शनिवार, 30 मार्च 2019

,

छत्तीसगढिय़ा भोला जरूर होता है, पर कमजोर नहीं : भूपेश बघेल


  • -सीएम ने फिर साधा पीएम पर निशाना 

रायपुर । राज्य भर में दाल-भात सेंटरों के बंद होने की खबर पर सिसायत तेज हो गई हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज अपने एक ट्वीट में कहा कि छत्तीसगढिय़ा भोला जरूर होता है पर कमजोर नहीं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपने ताजा ट्वीट में एक बार फिर से प्रधानमंत्री पर निशाना साधा है। अपने ट्वीट में श्री बघेल ने लिखा है-2014 में मोदी जी ने पीएम बनते ही छत्तीसगढ़ के किसानों का धान बोनस रोक दिया था और अब दाल-भरत सेंटर को खाद्यान्न देने से मना कर दिया है। छत्तीसगढिय़ा भोला जरूरत होता है, पर कमजोर नहीं। छत्तीसगढ़ विरोधी मानसिकता वाले नरेन्द्र मोदी और उनकी पार्टी का प्रदेश की जनता ईंट से ईंट बजा देगी।
ज्ञात हो कि प्रदेश भर में संचालित हो रहे अन्नपूर्णा दाल-भात सेंटर बंद होने के कगार पर हैं। भाजपा शासनकाल में शुरू हुई इस योजना से जरूरतमंदों को 5 से 10 रूपए में भरपेट भोजन मिलता था। अब इस केन्द्र को खाद्यान्न नहीं मिलने से सेंटर अपने आप ही बंद हो जाएगा। इधर राज्य खाद्य विभाग के संचालक ने प्रदेश के सभी खाद्य नियंत्रकों को पत्र जारी करते हुए कहा कि कभारत शासन उपभोक्ता मामले खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण विभाग के पत्र के अनुसार आश्रम, छात्रावास एवं कक्ल्याणकारी योजनाओं के अंतर्गत आगामी वित्त वर्ष 2019-20 में खाद्यान्न आवंटन केवल शासकीय स्वामित्व वाली संस्थाओं को ही प्रदान करने का आदेश जारी हुआ है। प्रदेश भर में चल रहे अन्नपूर्णा दाल-भात केन्द्र इस श्रेणी में नहीं आते, लिहाजा उन्हें खाद्यान्न का आवंटन नहीं होगा।  

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90