शनिवार, 30 मार्च 2019

,

विपक्षी नेता आतंकवादियों के आकाओं की भाषा बोलते हैं: मोदी



ईटानगर । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राष्ट्रीय महत्व के मुद्दों पर विपक्ष पर प्रहार करते हुए शनिवार को कहा कि जिन बातों पर राष्ट्र गौरव महसूस करता है, उनपर विपक्षी दल परेशान हो जाते हैं और उनके नेता आतंकवादी संगठनों के आकाओं की भाषा बोलते हैं। मोदी ने अरुणाचल प्रदेश के वेस्ट सियांग जिले में एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कहा,‘‘ आपने सर्जिकल स्ट्राइक्स के समय देखा ....और जब हमारे वैज्ञानिकों ने विश्व को अचंभा में डाल दिया.... ,ये लोग (विपक्षी दल) उपलब्धियों का मजाक उड़ा रहे थे। जब राष्ट्र गौरवांवित महसूस करता है तो वे परेशान हो जाते हैं और एक तरह से रोने ही लगते हैं। ये वही भाषा बोलते हैं जो आतंकवादियों के आका बोलते हैं।’’ प्रधानमंत्री ने अरुणाचल प्रदेश के लोगों से राष्ट्र का अनादर करने वालों को सबक सिखाने का आग्रह करते हुए कहा ,‘‘ भारत मेें उनकी पहचान नहीं है लेकिन पाकिस्तान में उन्हें हीरो के रूप मे देखा जाता है। पाकिस्तानी समाचार पत्रों में उनकी तस्वीरें छपती हैं। ’’



मोदी ने प्रश्न किया,‘‘ क्या आप ऐसे लोगों को सबक सिखाएंंगे जो आपके राज्य से कहीं अधिक पड़ोसी देश की ङ्क्षचता करते हैं।?’’ उन्होंने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा,‘‘ कांग्रेस और भ्रष्टाचार पिछले 55 साल से एक दूसरे के पर्यावाची बन चुके हैं। इसने गरीबों का राशन, किसानों की जमीन और रक्षा संपत्ति लूटी है। मैंने अपने पांच साल के कार्यकाल में 30 बार पूर्वोतर राज्यों का दौरा किया है। स्वयं को भारत का भाग्य विधाता समझने वालों ने इस क्षेत्र का दौरा कितनी बार किया है।’’ मोदी ने कहा, ‘‘पांच साल के काम का हिसाब देने से पहले, मैं केंद्र की योजनाओं को स्वीकार करने के लिए आप सभी को धन्यवाद देना चाहता हूँ। इस योजना के तहत 50 हजार परिवार के सदस्यों को बिजली का कनेक्शन, बड़ी संख्या में माताओं को गैस का कनेक्शन और एक लाख परिवारों को शौचालय उपलब्ध कराए गए।’’



मोदी ने कहा कि तीन लाख लोगों के बैंक खाते खोले गए और मुद्रा योजना के माध्यम से युवाओं को बैंक गारंटी के बिना 100 करोड़ रुपए से अधिक दिए गए हैं। प्रधानमंत्री ने कहा,‘‘यह दुर्भाग्य है कि कांग्रेस के नामदार ने इन सभी के बारे में कभी नहीं सोचा। उन्होंने ‘भलाई नहीं मलाई’के बारे में ही सोचा। मोदी ने कहा, ‘‘ पांच वर्षों के अनुभव के साथ मैं अगले पांच वर्षों में विकास का एक आधार बनाना चाहता हूं जो अगले 25 वर्षों तक चलेगा और उसके लिए मैं आज आपका आशीर्वाद लेने आया हूं। मैंने राज्य में धर्म, परंपरा और संस्कृति की रक्षा करने की कसम भी खाई हैं। मैं परंपरा, धर्म और संस्कृति में विश्वास रखता हूं लेकिन कुछ लोग इसको मजाक समझते हैं। पिछले महीने मैंने अपनी यात्रा के दौरान पारंपरिक पोशाक पहनी थी।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90