Your Ads Here

चारामा में खुलेगा एसडीएम कार्यालय : मुख्यमंत्री ने की घोषणा


  • आगामी खरीफ में भी 2500 रूपए प्रति क्विंटल की दर से खरीदा जायेगा धान
  • चारामा में किसान सम्मेलन का आयोजन
रायपुर । मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल आज कांकेर जिले की तहसील मुख्यालय चारामा में आयोजित किसान सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए चारामा में अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) कार्यालय खोलने की घोषणा की। मुख्यमंत्री की घोषणा पर तत्परता से अमल करते हुए जिला प्रशासन कांकेर द्वारा अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) की पदस्थापना कर दी गई है। 


मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर 192 लाख रूपये के विकास कार्यों का भूमि पूजन और लोकार्पण किया। इसके तहत 164 लाख रूपये के 17 कार्यों का भूमिपूजन और 27 लाख रूपये के एक कार्य लोकार्पण शामिल है। उन्होंने किसान सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ के किसानों से देश में सर्वाधिक 25 सौ रूपये प्रति क्विंटल में धान की खरीदी की गई है। आगामी खरीफ सीजन में भी किसानों से 2500 रूपए प्रति क्विंटल की दर से धान खरीदा जायेगा। उन्होंने कहा कि राज्य में 20 लाख किसानों के 10 हजार करोड़ रूपये से अधिक का कृषि ऋण माफ किए गए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य शासन ने ग्रामीण क्षेत्रों के विकास के साथ-साथ खेती किसानी के उत्थान के लिए ’नरवा, गरूवा, घुरूवा और बारी’ योजना प्रारंभ की है। इसके माध्यम से राज्य में नदी, नालों को पुर्नजीवित करने का काम किया जायेगा। गांव में गौठान का निर्माण होगा, पशुओं के लिए चारा, पानी एवं छाया की व्यवस्था की जायेगी तथा कम्पोस्ट खाद भी बनाया जाएगा। तेंदूपत्ता का पारिश्रमिक दर 25 सौ रूपये से बढाकर 4 हजार रूपये प्रति मानक बोरा कर दिया गया है। राज्य शासन द्वारा अब लघु वनोपज को भी खरीदने की व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने बताया कि निरस्त किए गए वन अधिकार मान्यता पत्रों की समीक्षा भी की जा रही है।

महिला एवं बाल विकास तथा समाज कल्याण मंत्री एवं जिले की प्रभारी मंत्री श्रीमती अनिला भेंड़िया ने कहा कि बस्तर में छोटे-छोटे कुटीर उद्योग खोले जायेंगे, जिनमें महिलाओं की भी सहभागिता होगी। उन्होंने अंतराष्ट्रीय महिला दिवस की बधाई एवं शुभकामनाएं भी दी।

उद्योग एवं आबकारी मंत्री श्री कवासी लखमा ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में आदिवासी, किसान और मजदूर की सेवा करने वाली सरकार है। भानुप्रतापपुर विधानसभा क्षेत्र के विधायक श्री मनोज मण्डावी और गोंड़वाना समाज के अध्यक्ष श्री जीवन ठाकुर ने भी सम्बोधित किया। कार्यक्रम में कांकेर विधानसभा क्षेत्र के विधायक श्री शिशुपाल शोरी, कांकेर जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती सुभद्रा सलाम, पूर्व विधायक सर्वश्री शंकर धु्रवा, शिव नेताम, श्रीमती गंगा पोटाई सहित जनप्रतिनिधिगण, अधिकारी कर्मचारी और बडी संख्या में किसान एवं ग्रामीणजन उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री ने की नरवा, गरूवा, घुरूवा और बाड़ी के मॉडल की तारीफ
किसान सम्मेलन में उद्यानिकी, कृषि, रेशम, खाद्य एवं सहकारिता, जल संसाधन, मछली पालन, पशु पालन, श्रम विभाग एवं जनपद पंचायत द्वारा विकास प्रदर्शनी लगाई गई। इस प्रदर्शनी में नरवा, गरूवा, घुरूवा और बाड़ी के आदर्श प्रतिरूप रखे गए थे। मुख्यमंत्री ने प्रदर्शनी का अवलोकन किया और इसकी सराहना की।

No comments

Powered by Blogger.