Your Ads Here

कानून व्यवस्था बिगडऩे से आपराधिक मामलों में हुआ इजाफा


  •  विधानसभा में संभागवार रिपोर्ट में हुआ खुलासा
रायपुर,। छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिलों में 2017 से जनवरी 2018 की अपेक्षा 2018 से जनवरी 19 तक हत्या ,बलात्कार ,लूट,डकैती ,चोरी जैसे विभिन्न अपराधों में राजधानी सहित 27 जिलों में अपराध की संख्याओं में इजाफा हुआ है। प्रदेश में अपराध कम होने के बजाए बढऩे से आम लोगों ने चिन्ता व्यक्त व्यक्त करते हुये कहा कि शासन व प्रशासन को मिलकर लोगों को अपराध मुक्त समाज बनाने के लिये नये नियम व कानून बनाना चाहिए ताकि समाज में हत्या व बलात्कार एवं डकैती ,लूट ,चोरी जैसे गंभीर अपराधों से समाज को मुक्ति मिले। मिली जानकारी के अनुसार छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिलों में एक साल के भीतर 2018 से लेकर जनवरी 2019 तक लूट ,हत्या ,डकैती ,चेरी व बलात्कार जैसे अपराधों में पुलिस ने विभिन्न मामले में रिपोर्ट दर्ज किया है। 2018 से जनवरी 2019 तक एक साल के अंदर रायपुर जिले में हत्या के 44 मामले दर्ज की किये गये है। वही रायपुर संभाग भर में हत्या जैसे संगीन मामलों में कुल 104 मामले में रिपोर्ट दर्ज हुई है। इसी तरह बलात्कार जैसे घिनौने मामलें में रायपुर जिले में 161 रिपोर्ट दर्ज की गई है। वहीं रायपुर संभाग के जिलों में बलात्कार जैसे मामले में 383 रिपोर्ट दर्ज किया गया है। व प्रदेश में किये गये लूट के मामलों में 2018 से जनवरी 19 तक रायपुर जिले में 66 मामलों में अपराध पंजीबद्ध की गई है। वहीं पूरे संभाग में लूट के कुल 91 मामलों में एफआईआर दर्ज किया गया है। जबकि डकैती जैसे मामलों में रायपुर जिलें में 7 रिपोर्ट दर्ज की गई है वही रायपुर संभाग में डकैती के कुल 10 मामलों में एफआईआर दर्ज किया गया है। एवं चोरी जैसे अपराध में पूरे प्रदेश में 2018 से जनवरी 2019 तक रायपुर जिले में कुल 1281चोरी की रिपोर्ट दर्ज दर्ज की गई है। वहीं रायपुर संभाग के जिलों में कुल 1763 रिपोर्ट चोरी किये जाने के मामलों में दर्ज किया गया है। इसी तरह से दुर्ग जिला में हत्या के 35 मामले दर्ज किये गये है। वही संभाग के जिलों में 112 मामले दर्ज हुई है। वही दुर्ग जिले में बलात्कार के 125 मामले एवं संभाग के जिलों में 271 मामले दर्ज किये गये है। जबकि डकैती के मामले में दुर्ग जिला निरंक रहा है। संभाग के जिलों में केवल 4 मामले डकैती के दर्ज किये गये है। वहीं दुर्ग जिले में लूट के 40 मामले एवं संभाग के जिलों में 88 मामले दर्ज किये गये है। जबकि चोरी के मामले में 533 रिपोर्ट दर्ज करायी गई है। व संभाग के जिलों में कुल 1038 मामलों में रिपोर्ट दर्ज करायी गई है। जबकि बिलासपुर जिले में हत्या के 50 मामले में रिपोर्ट दर्ज की गई है वही संभाग के जिलों में 172 मामलों में रिपोर्ट दर्ज गई है। वहीं बिलासपुर जिला में बलात्कार के मामले में 73 मामलों में रिपोर्ट दर्ज की गई है। वही संभाग के जिलों में 366 मामले रिपोर्ट दर्ज हुई है। वही डकैती जैसे मामले में बिलासपुर जिले में निरंक रहा है वही संभाग के जिलों में 10 मामले दर्ज किये गये है। वही लूट के मामलों में बिलासपुर जिला में 31मामले दर्ज की गई है। वही संभाग स्तरीय जिलों में 124 मामलों में लूट का रिपोर्ट दर्ज किया गया है। एवं चोरी के मामलों में बिलासपुर जिले में 616 रिपोर्ट दर्ज की गई है वही संभाग स्तरीय जिलों में 1570 मामले दर्ज हुई है।  

No comments

Powered by Blogger.