शनिवार, 22 अगस्त 2020

बस्ती में सरयू नदी की बाढ़ से 76 गांव की 22000 से अधिक आबादी प्रभावित

बस्ती। उत्तर प्रदेश में बस्ती जिले के 76 गांव की 22 हजार से अधिक जनसंख्या प्रभावित है और फसल बर्बाद होने से किसान परेशान है।

आधिकारिक सूत्रों ने बताया है कि सरयू नदी का जलस्तर खतरे के निशान 92.730 के बदले 93.500 पर है जो लाल निशान से 77 सेंटीमीटर ऊपर है7 शारदा बैराज से 1684 08 क्यूसेक पानी, सरयू बैराज से 16419 क्यूसेक तथा गिरजा बैराज से 14170 2 क्यूसेक पानी छोड़ा गया है,जिससे जलस्तर बढऩे के आसार हैं।

उन्होंने बताया कि बाढ़ से प्रभावित क्षेत्र 76 गांव की 22000 से अधिक आबादी लगभग एक माह से प्रभावित है। है बाढ़ फसले बर्बाद हो गई हैं। बिलासपुर बाबा बिशन दास पुर के 60 परिवार अपने पशुओं के साथ चांदपुर बंदे पर डेरा डाले हैं, मोतीराम, बेनीपुर बेनीपुर सत्तहा ,बालूया गोरिया का पुरवा,दयाराम का पुरवा,भंवरिया अशोक पूरे आदि 28 गांव जो लंबे अरसे से बाढ़ से घिरे हैं।

सूत्रों ने बताया कि बाढ़ से जहां आम लोग परेशान हैं वहीं पशुओं के लिए चारे की समस्या है। बाढ़ के कारण घर में रखा अनाज बर्बाद हो गया है । महादेवा क्षेत्र के भाजपा विधायक रवि सोनकर द्वारा बस्ती सदर तहसील के बाढ़ प्रभावित क्षेत्र में 410 राहत पैकेट बांटा है7 जिला प्रशासन द्वारा बाढ़ पीडि़तों के सहायतार्थ 90 नाव लगाने के साथ ही 17 बाढ़ केंद्र और 30 बाढ़ चौकी स्थापित की है । बाढ़ प्रभावित हरैया क्षेत्र के गांव में 4000 से अधिक राहत पैकेट प्रशासन द्वारा बांटा गया है7 कुछ क्षेत्र के किसानों को पशुओं के लिए चारा भी प्रदान किया गया है।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90