मंगलवार, 2 जून 2020

नस्लभेद के खिलाफ आवाज बुलंद करे आईसीसी : सैमी


नई दिल्ली। वेस्टइंडीज के पूर्व टी-20 कप्तान डेरेन सैमी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) और अन्य क्रिकेट बोर्डों से नस्लभेद के खिलाफ आवाज बुलंद करने की मांग की है। विंडीज के ऑलराउंडर सैमी ने अमेरिका में अफ्रीकी मूल के अमेरिकी नागरिक जॉर्ज फ्लॉयड की पुलिस हिरासत में मौत की खबर के बाद इस पर मंगलवार को सोशल मीडिया पर लगातार पोस्ट डालते हुए अपनी प्रतिक्रिया दी। फ्लॉयड की मौत के बाद से ही अमेरिका में प्रदर्शन हो रहे हैं जो लगातार हिंसक होते जा रहे हैं। सैमी ने कहा, "अगर इस समय भी क्रिकेट जगत रंगभेद के खिलाफ आवाज नहीं उठाएगा तो वो भी इसका हिस्सा ही होगा। आईसीसी और अन्य क्रिकेट बोर्ड आपको नजर नहीं आ रहा कि मेरे जैसे लोगों के साथ क्या हो रहा है। क्या आप मेरे जैसे लोगों के साथ हो रहे सामाजिक अन्याय के खिलाफ आवाज नहीं उठाएंगे। विंडीज को टी-20 विश्वकप जिताने वाले कप्तान ने कहा कि नस्लीय और जातिगत भेदभाव सिर्फ अमेरिका तक ही सीमित नहीं है बल्कि यह दुनियाभर में होता है। उन्होंने कहा, "यह सिर्फ अमेरिका की बात नहीं है। यह हर दिन होता है। यह चुप रहने का समय नहीं है, मैं आपके विचार सुनना चाहता हूं। सैमी ने कहा, "कई वर्षों से अश्वेत लोगों को बहुत कुछ सहन करना पड़ रहा है। मैं सेंट लूसिया में हूं और काफी गुस्से में हूं। अगर आप मुझे टीम का हिस्सा मानते हैं तो आप फ्लॉयड का भी समर्थन करें और इस बदलाव में अपना योगदान दें। सैमी की प्रतिक्रिया क्रिस गेल के उस बयान के बाद सामने आयी जिसमें उन्होंने कहा था कि उन्हें अपने करियर में नस्लभेदी भेदभाव का सामना करना पड़ा था और ऐसा सिर्फ फुटबॉल में ही नहीं बल्कि क्रिकेट में भी होता है।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90