रविवार, 5 अप्रैल 2020

सार्क देशों के साथ स्वयं के अनुभव साझा करेगा एम्स रायपुर


रायपुर । अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान रायपुर के चिकित्सक और वैज्ञानिक सार्क देशों के साथ यहां मिली सफलता को साझा करने की तैयारी कर रहे हैं। इन अनुभवों को अन्य देशों के चिकित्सकों को बताकर उन्हें कोरोना वायरस की चुनौती से जूझने के लिए अपनाई गई रणनीति समझायी जाएगी।

उप-निदेशक (प्रशासन) नीरेश शर्मा ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सार्क देशों के प्रधानमंत्रियों के साथ वार्ता में इसके लिए प्रस्ताव रखा था। इसी के अनुरूप 13 से 20 अप्रैल के मध्य सार्क देशों के चिकित्सकों और वैज्ञानिकों की ऑन लाइन कांफ्रेंस वेबनायर आयोजित करने का प्रस्ताव है। इसमें एम्स दिल्ली के साथ ही एम्स रायपुर के चिकित्सक भी भाग लेंगे। इस वेबनायर में सार्क देशों के प्रतिनिधि मिलकर कोरोना वायरस की चुनौती के बारे में संयुक्त रणनीति पर विचार करेंगे और एक-दूसरे के देशों में मिले अनुभवों को जानेंगे।

निदेशक प्रो. (डॉ.) नितिन एम. नागरकर का कहना है कि यह एम्स रायपुर के लिए अति महत्वपूर्ण है क्योंकि यहां के चिकित्सकों ने अब तक कोरोना वायरस से पीडि़त छह रोगियों को ठीक करके भेज दिया है। ऐसे में एम्स रायपुर द्वारा जो प्रोटोकॉल अपनाया गया है उसे अन्य देशों के साथ साझा किया जाएगा जिससे वे भी इससे लाभान्वित हो सके। यह ज्ञान को साझा करने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पहल का ही एक भाग होगा।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Top Ad 728x90