बुधवार, 4 मार्च 2020

बारिश ने खलल डाला तो भारत फाइनल में

सिडनी। आईसीसी महिला टी-20 विश्वकप टूर्नामेंट के सेमीफाइनल मुकाबले गुरूवार को होने हैं और इस दिन बारिश की संभावना व्यक्त की गयी है। विश्व कप की खेल शर्तों के अनुसार सेमीफाइनल के लिए कोई रिज़र्व डे नहीं रखा गया है और यदि भारत-इंग्लैंड का सेमीफाइनल बारिश के कारण रद्द होता है तो भारतीय टीम अपने बेहतर ग्रुप रिकॉर्ड के कारण फाइनल में पहुंच जायेगी। गुरुवार को सिडनी में दोनों सेमीफाइनल होने हैं जिसमें भारत का मुकाबला इंग्लैंड से और दक्षिण अफ्रीका का मुकाबला गत चैंपियन ऑस्ट्रेलिया से होना है। सेमीफाइनल के लिए कोई रिज़र्व डे नहीं रखा गया है और सेमीफाइनल रद्द होने की सूरत में आईसीसी को इस नियम के चलते कड़ी आलोचना का सामना करना पड़ सकता है। सिडनी में मंगलवार को पाकिस्तान और थाईलैंड तथा वेस्ट इंडीज और दक्षिण अफ्रीका के मैच बारिश से प्रभावित रहे थे और इनमें कोई परिणाम नहीं निकला था। पाकिस्तान और थाईलैंड मैच में सिर्फ थाईलैंड की पारी पूरी हुई थाई जबकि वेस्ट इंडीज और दक्षिण अफ्रीका के मैच में टॉस भी नहीं हो पाया था और मैच बिना कोई गेंद फेंके रद्द हो गया था। गुरूवार के मैचों में भी बारिश की भविष्यवाणी की गयी है और यदि बारिश से मैच धुलता है तो भारत पहली बार विश्व कप के फाइनल में पहुंच जाएगा।
टूर्नामेंट के नियमों के अनुसार सेमीफाइनल रद्द होने की सूरत में ग्रुप में बेहतर रिकॉर्ड रखने वाली टीम फाइनल में पहुंचेगी। भारत ने अपने ग्रुप ए में चारों मैच जीते थे जबकि इंग्लैंड ने ग्रुप बी में चार में से तीन मैच जीते थे। भारत जैसी स्थिति दक्षिण अफ्रीका की है जिसने ग्रुप बी तीन मैच जीते थे और उसका एक मैच रद्द रहा था जबकि ऑस्ट्रेलिया ने ग्रुप ए में तीन मैच जीते और एक मैच हारा। बारिश की आशंका को यदि छोड़ दिया जाए तो भारत और इंग्लैंड के बीच जोरदार मुकाबला होने की पूरी उम्मीद है। इस मुकाबले को विश्व कप का ब्लॉकबस्टर मैच कहा जाए तो कोई अतिश्योक्ति नहीं होगी। फॉर्म में चल रही और अपने ग्रुप के सभी चार मैच जीतने वाली भारतीय टीम के पास इंग्लैंड से दो साल पहले विश्वकप के सेमीफाइनल में मिली हार का बदला चुकाना का मौका रहेगा। भारतीय टीम नंवबर 2018 में वेस्टइंडीज में हुए विश्वकप के सेमीफाइनल में 19.3 ओवर में 112 रन पर सिमट गयी थी जबकि इंग्लैंड ने 17.1 ओवर में दो विकेट पर 116 रन बनाकर मैच जीत लिया था। इससे पहले 2017 में इंग्लैंड में हुए एकदिवसीय विश्वकप में भारत का फाइनल में मेजबान इंग्लैंड के साथ मुकाबला हुआ और इंग्लैंड ने भारतीय टीम को नौ रन से हराकर खिताब जीत लिया था। इंग्लैंड ने 50 ओवर में सात विकेट पर 228 रन बनाए जबकि भारतीय टीम 48.4 ओवर में 219 रन पर सिमट गयी थी। इस मुकाबले में दुनिया की नंबर एक टी-20 बल्लेबाज 16 साल की शेफाली वर्मा और नंबर एक गेंदबाज सोफी एक्लस्टोन की भिड़ंत मैच का फैसला करेगी। शेफाली ने चार मैचों में 161.00 के स्ट्राइक रेट से 161 रन बनाये हैं। उनकी विस्फोटक बल्लेबाजी ने ही भारत को सेमीफाइनल में पहुंचाया है। वह दो बार प्लेयर ऑफ द मैच बन चुकी हैं। शेफाली ने चार मैचों में 29, 39, 46 और 47 रन की मैच विजयी पारियां खेली हैं। हर मैच के साथ उनका ग्राफ लगातार ऊंचा होता चला जा रहा है और आज वह विश्व रैंकिंग में नंबर एक बल्लेबाज बन चुकी हैं।
दूसरी तरफ इंग्लैंड की टीम में शेफाली के मुकाबले नताली शिवर और हीथर नाईट हैं जिन्होंने क्रमश: 202 और 193 रन बनाये हैं। इंग्लैंड की ये दोनों बल्लेबाज टूर्नामेंट की शीर्ष दो स्कोरर हैं। नाईट तो शतक भी लगा चुकी हैं। भारत ने ग्रुप चरण में विश्व चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को सिडनी में 17 रन से, बंगलादेश को पर्थ में 18 रन से, न्यूजीलैंड को मेलबोर्न में तीन रन से और श्रीलंका को मेलबोर्न में सात विकेट से पराजित किया। इंग्लैंड ने अपना पहला मैच दक्षिण अफ्रीका से छह विकेट से गंवाया था लेकिन इसके बाद उसने शानदार वापसी करते हुए थाईलैंड को 98 रन से, पाकिस्तान को 42 रन से और वेस्टइंडीज को 46 रन से हराया। भारतीय महिला टीम का टी-20 में इंग्लैंड के खिलाफ 4-16 का रिकॉर्ड है लेकिन वह शेफाली और अपनी स्पिनरों के दम पर इस रिकॉर्ड को बदलने की कोशिश करेगी। लेग स्पिनर पूनम यादव टूर्नामेंट में अब तक सर्वाधिक नौ विकेट ले चुकी हैं। मध्यम तेज गेंदबाज शिखा पांडेय ने सात विकेट लिए हैं जबकि लेफ्ट आर्म स्पिनर राधा यादव ने पांच और लेफ्ट आर्म स्पिनर राजेश्वरी गायकवाड ने पांच विकेट लिए हैं। दुनिया की नंबर एक गेंदबाज लेफ्ट आर्म स्पिनर एक्लस्टोन और मध्यम तेज गेंदबाज अन्य श्रब्सोल आठ-आठ विकेट ले चुकी हैं। टूर्नामेंट में भारतीय स्पिनरों ने सर्वाधिक 21 विकेट लिए हैं जबकि इंग्लैंड की स्पिनरों का 433 का सर्वश्रेष्ठ इकोनॉमी रेट रहा है।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90