शनिवार, 21 दिसंबर 2019

,

बायोकेमिस्ट ने स्टेज पर साइंस एक्सपेरिमेंट कर जीता खिताब, विज्ञान में 2 डिग्री पा चुकीं

न्यूयॉर्क। अमेरिका के वर्जिनिया की रहने वाली एक बायोकेमिस्ट कैमिला श्रियर ने 'मिस अमेरिका 2020Ó का खिताब जीत लिया है। श्रियर ने कॉन्टेस्ट में करीब 50 महिलाओं को हराकर कॉन्टेस्ट जीता। मिस अमेरिका के आखिरी चैलेंज में प्रतिभागियों को अपनी छिपी हुई प्रतिभा दिखानी थी। 24 साल की श्रियर लैब कोट पहनकर स्टेज पर पहुंचीं और जजों को स्टेज पर ही केमिस्ट्री एक्सपेरिमेंट कर के दिखाया।  श्रियर के पास साइंस की दो डिग्रियां हैं। वे अभी वर्जिनिया कॉमनवेल्थ यूनिवर्सिटी में फार्मेसी से डॉक्टरेट कर रही हैं। कॉन्टेस्ट के दौरान जब जजों (गायिका केली रौलेंड, अभिनेत्री करामो ब्राउन और लॉरेन ऐश) के पैनल ने श्रियर से उनकी प्रतिभा के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा, "मिस अमेरिका कोई ऐसी होनी चाहिए, जो शिक्षा दे सके।" श्रियर को कॉन्टेस्ट जीतने के लिए 50 हजार डॉलर (करीब 36 लाख रुपए) मिलेंगे। मिस अमेरिका के तौर पर वे इस रकम को एक ड्रग सेफ्टी प्रोग्राम में खर्च करेंगी।  आयोजनकर्ताओं ने मिस अमेरिका कॉन्टेस्ट के फॉर्मेट में साल 2018 में बदलाव किया था। इससे स्विमसूट सेगमेंट को हटाया गया और प्रतियोगियों की दिखावट आधार पर नंबर देना कम किया गया। इसके बजाय कॉम्पटीशन में महिलाओं को उनकी प्रतिभाएं और जुनून दिखाने का मौका दिया जाने लगा। 2018 में मिस अमेरिका की विजेता ग्रेचेन कार्लसन ने सुधारों का ऐलान करते हुए कहा था कि अब हम प्रतियोगियों को उनके बाहरी शारीरिक दिखावट के आधार पर जज नहीं करेंगे।  ऑर्गनाइजर्स का कहना है कि इन बदलावों के बाद ज्यादा युवा महिलाएं मिस अमेरिका में हिस्सा ले रही हैं। कुछ दिन पहले ही एक मीडिया ग्रुप को दिए इंटरव्यू में श्रियर ने कहा था कि मिस अमेरिका के नए सिरे से शुरू किए जाने की वजह से कॉम्पटीशन का नया रूप सामने आया है। इसमें महिलाओं की दिखावट से ज्यादा उनकी उपलब्धियों को महत्व दिया गया है।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90