शनिवार, 21 दिसंबर 2019

,

बिजनौर में उपद्रवी की मौत, मेरठ में आरएएफ जवान को गोली लगी, बुलंदशहर, मुजफ्फरनगर में भी बवाल

मेरठ। नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में शुक्रवार को जुमे की नमाज के बाद मेरठ और सहारनपुर मंडल में जमकर प्रदर्शन किया गया। बुलंदशहर में भीड़ ने तकरीर के बाद नारेबाजी और प्रदर्शन शुरू कर दिया। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को रोकने की कोशिश की तो भीड़ ने पुलिस पर पथराव के साथ-साथ फायरिंग भी कर दी। यहां पर पुलिस के वाहनों मे आग लगा दी गई। मेरठ में कोतवाली क्षेत्र में तोडफ़ोड़ कर रही भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को हल्का लाठीचार्ज करना पड़ा। शहर के अन्य हिस्सों में भी प्रदर्शन की सूचना है। बिजनौर में जामा मस्जिद के बाहर एकत्रित भीड़ साढ़े तीन बजे के करीब शहर की ओर चल पड़ी। सिविल लाइन जजी के पास उग्र भीड़ ने अचानक वाहनों में तोडफ़ोड़ शुरू कर दी। सहारनपुर में जुमे की नमाज के बाद शहर की सभी मस्जिदों से हजारों की संख्या में भीड़ शहर घंटाघर पहुंची। भीड़ ने पुलिस द्वारा लगाए गए सभी बैरीकेडिंग भी गिरा दिए, देवबंद में भी हजारों प्रदर्शनकारी सड़कों पर उतर आए थे। शुक्रवार की शाम को मेरठ के भूमिया के पुल पर एक उपद्रवी गोली लगने से गंभीर रूप से घायल हो गया वहीं बिजनौर में एक उपद्रवी की मौत हो गई जबकि दो अन्य घायल हो गए। तारापुरी में 30 रिक्रूटों को एसपी देहात ने बंधन मुक्त कराया। आरएएफ के एक और जवान को गोली लगी। इस क्षेत्र में हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं। घंटाघर, लिसाड़ी गेट, वैली बाजार में सभी दुकानें बंद हो गई हैं। 
बुलंदशहर में पुलिस पर फायरिंग
बुलंदशहर के ऊपर कोट मोहल्ले में दस हजार की भीड़ ने तकरीर के बाद नारेबाजी और प्रदर्शन शुरू कर दी। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को रोकने की कोशिश की तो भीड़ ने पुलिस पर पथराव के साथ साथ फायरिंग भी कर दी। जिसके बाद हालात और बिगड़ गए और पुलिस को भी फायरिंग करनी पड़ी। अभी किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है। उग्र हुई भीड़ ने पुलिस की गाडिय़ों पर पथराव कर दिया और कुछ गाडिय़ों को आग के हवाले कर दिया। यहां पर हालात को नियंत्रित करने की कोशिश की जा रही थी। पथराव के दौरान कई लोग घायल हो गए।
सहारनपुर में जमकर नारेबाजी
सहारनपुर में जुमे की नमाज के बाद शहर की सभी मस्जिदों से हजारों की संख्या में भीड़ शहर घंटाघर पहुंची। भीड़ ने पुलिस द्वारा लगाए गए सभी बैरीकेडिंग भी गिरा दिए हैं। इस दौरान भारी संख्या में पुलिस बल तैनात है। भीड़ प्रदर्शन करते हुए अल्ला हु अकबर के नारे लगा रही थी। नमाज पढ़कर लौट रहे लोगों ने मोदी सरकार द्वारा बनाए गए नागरिकता संशोधन कानून को पूरी तरह से गलत बताया। वरिष्ठ अफसर भी मौके पर ही मौजूद हैं। किसी प्रकार की हिंसा की कोई सूचना नहीं है। दूसरी ओर देवबंद में भी हजारों लोग बीच बाजार आ गए। यहां पर लोगों ने मोदी सरकार के विरोध में जमकर नारेबाजी की।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90