Your Ads Here

बिजनेसमैन से दो करोड़ रिश्वत की शिकायत, एनआईए के तीन अधिकारियों का तबादला



  • टेरर फंडिंग मामला

नईदिल्ली । आतंकवादियों को धन मुहैया कराने (टेरर फंडिंग) के मामले में कदाचार को लेकर राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने अपने तीन अधिकारियों का तबादला कर दिया है। एनआईए अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि एनआईए को एक माह पहले शिकायत मिली थी कि पुलिस अधीक्षक स्तर समेत तीन अधिकारियों ने दिल्ली के एक व्यवसायी से टेरर फंडिंग मामले में उसका नाम शामिल न करने के एवज में दो करोड़ रुपये की मांग की थी। ये तीनों अधिकारी पाकिस्तान में सक्रिय लश्करे-तैयबा प्रमुख हाफिज सईद द्वारा संचालित फलही-इंसानियत फाउंडेशन की जांच कर रहे थे। उन्होंने बताया कि एनआईए को मिली इस शिकायत की जांच उपमहानिरीक्षक स्तर के एक अधिकारी कर रहे हैं। निष्पक्ष जांच सुनिश्चित करने के लिए तीनों अधिकारियों का स्थानांतरण कर दिया गया है।
आतंकी संगठन विदेशी संस्थाओं के माध्यम के भारत के कुछ गुमराह लोगों को रुपये का लालच दे कर देश में आतंकी गतिविधियों अंजाम देने व देश की खुफिया जानकारी देने का काम करवाती है। इसी तरह की एनआईए पाकिस्तान से जुड़े आतंकी संगठन फलाह-ए-इंसानियत फाउंडेशन (एफआईएफ) से भारत में रुपए की फंडिंग को लेकर जांच कर रही है। एफआईएफ का संबंध हाफिज सईद के आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा से है। पिछले साल अक्टूबर में एनआईए को गिरफ्तार मोहम्मद सलमान से पूछताछ में पता चला था कि हरियाणा और राजस्थान के कुछ मदरसों के लिए पाकिस्तान से पैसे आए थे।  

No comments

Powered by Blogger.