Your Ads Here

केरल तट पर पहुंचा मानसून, 18-20 जून तक छत्तीसगढ़ आने की उम्मीद

Related image
रायपुर । एक सप्ताह के विलंब के साथ आखिरकार दक्षिण-पश्चिम मानसून ने केरल तट पर दस्तक दे दी है। अब परिस्थितियों के अनुकूल रहने पर मानसून 8-10 दिनों के भीतर प्रदेश में भी दस्तक दे देगा। इस लिहाज से 18 से 20 जून के मध्य मानसून छत्तीसगढ़ में बस्तर के रास्ते प्रवेश कर लेगा।
मौसम विभाग से जुड़े सूत्रों ने दक्षिण-पश्चिम मानसून के केरल तट पर पहुंचने की पुष्टि कर दी है। इस समय केरल और इसके आसपास के इलाकों में मानसून की झमाझम बारिश हो रही है। वहीं मानसून का एक छोर पूर्वाेत्तर राज्यों की ओर आगे बढ़ रहा है। इधर मौसम विभाग से जुड़े सूत्रों की माने तो आमतौर पर परिस्थितियां अनुकूल रहने पर केरल तट में दस्तक देने के बाद दक्षिण-पश्चिम मानसून तेजी से आगे बढ़ता है और 10 से 12 जून के मध्य बस्तर के रास्ते प्रदेश में दस्तक देता है। लेकिन इस बार अननीनो प्रभाव के चलते और परिस्थितियों में आए बदलाव के चलते दक्षिण-पश्चिम मानसून करीब एक सप्ताह की देरी से केरल तट पर पहुंचा है। इधर मानसून के तटीय इलाकों में दस्तक देने के साथ ही समुद्र की ओर से आ रही नमीयुक्त हवा के असर से भीषण गर्मी से बेहाल प्रदेशवासियों को आज कुछ राहत मिली है। सूरज की तीखी धूप भी आज हल्के बादलों की वजह से मध्यम पड़ गई है। अधिकतम तापमान में भी आंशिक गिरावट दर्ज की गई है। प्रदेशवासियों को अब भीषण गर्मी से राहत मिलनी शुरू हो गई है, प्रदेश में दो-चार दिनों के भीतर ही प्री-मानसून की बौछारें पडऩे की भी संभावना जताई गई है। 

No comments

Powered by Blogger.