Your Ads Here

रिसेट-२बी उपग्रह में कई विशेषताएं हैं : शिवन


श्रीहरिकोटा । भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के अध्यक्ष डॉ. के. शिवन ने बुधवार को कहा कि लांच व्हीकल पीएसएलवी-सी४६ से सफलतापूर्ण प्रक्षेपित पृथ्वी की निगरानी करने वाले रडार इमेजिंग उपग्रह रिसेट-२बी में कई विशेषताएं हैं।
डॉ. शिवन ने सफल मिशन के बाद वैज्ञानिकों को संबोधित करते हुए कहा, ' मुझे यह कहते हुए बेहद खुशी हो रही है कि पीएसएलवी-सी४६, रिसेट-२बी उपग्रह को ५५५ किलोमीटर की ऊंचाई पर सफलतापूर्वक निर्दिष्ट कक्षा में ३७ डिग्री झुकाव के स्थापित कर दिया। '
उन्होंने कहा, 'यह मिशन इस मायने में महत्वपूर्ण है कि पीएसएलवी ने अंतरिक्ष में ५० टन ले जाने की रिकॉर्ड को पार किया है। यह अब तक ३५० उपग्रहों को कक्षा में स्थापित किया है जिनमें से ४७ राष्ट्रीय उपग्रह हैं और शेष छात्र एवं विदेशी उपग्रह हैं।'
डॉ. शिवन ने कहा कि रिसेट-२ बी उपग्रह एक सिंथेटिक अर्पचर रडार(एसएसआर) से लैस है जो पृथ्वी की निगरानी की क्षमता को बढ़ाता है। 

No comments

Powered by Blogger.