Your Ads Here

पहले ट्रेजरी को हरी झंडी दिखाएं भूपेश-विक्रम उसेंडी


  •  किसानों व कर्मचारियों का आक्रोश भारी पड़ेगा
रायपुर । छत्तीसगढ़ में राज्य के सभी कोषालय में सर्वर ठप होने की वजह से मची आर्थिक त्राहि-त्राहि को लेकर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष विक्रम उसेंडी ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को आगाह किया है कि ट्रेजरी को हरी झंडी दिखाएं अन्यथा पीडि़त लोगों का आक्रोश झेलने को तैयार रहें।
कांग्रेस की यात्रा को हरी झंडी दिखाने के संदर्भ में भाजपा अध्यक्ष श्री उसेंडी ने मुख्यमंत्री श्री बघेल पर हमला बोलते हुए कहा है कि प्रदेश में आर्थिक आपातकाल की स्थिति बनी हुई है। सरकारी कर्मचारियों से लेकर किसानों तक का पैसा रुका हुआ है। सरकार ने जानबूझकर ट्रेजरी का सर्वर ठप करा रखा है ताकि इसके बहाने सभी का भुगतान रोका जा सके। श्री उसेंडी का कहना है कि सरकार जिनका भुगतान कराना चाह रही थी, उनका भुगतान तो समय रहते हो गया लेकिन समर्थन मूल्य पर धान खरीदने के बावजूद सरकार ने किसानों का पैसा दबा लिया। इसी तरह कर्मचारियों के वेतन भुगतान रुके हुए हैं। पेंशन रुकी हुई है। हर तरह के कामों के भुगतान रुक जाने की वजह से पूरे प्रदेश की व्यवस्था लडख़ड़ा गई है। कहीं कोई काम नहीं हो रहा। यह आर्थिक अराजकता अभूतपूर्व है। भाजपा अध्यक्ष श्री उसेंडी ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को कांग्रेस की यात्रा की चिंता है लेकिन ठप पड़ी ट्रेजरी की व्यवस्था दुरुस्त कराने की कोई चिंता नहीं है। बल्कि वह तो इसके लिए पहले से ही मानसिकता बनाए हुए थे कि वित्त वर्ष के आखरी में किस तरह भुगतान से बचा जा सके। आखरी दिन तक ट्रेजरी की आड़ में भुगतान रोक दिया गया और अब प्रभावित लोगों को अपनी रकम के लिए लंबा इंतजार करना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि बिना किसी नीति के कांग्रेस ने झूठे वादे करके प्रदेश में जनादेश तो ले लिया लेकिन अब इसका खामियाजा जनता को ही भोगना पड़ रहा है। पूरे प्रदेश के विकास कार्य रुक गए हैं। जब सरकार कर्मचारियों को वेतन ही नहीं दे पा रही, काम के भुगतान का बिल लटका रही है तब किसी तरह के विकास की कोई गुंजाइश कहां से निकालेगी। श्री उसेंडी ने कहा कि कांग्रेस ने सत्ता में आते ही छत्तीसगढ़ को काफी पीछे धकेल दिया है और सौ रोज की सरकार ने एहसास करा दिया है कि छत्तीसगढ़ आर्थिक मोर्चे पर उसी दौर में पहुंच गया है, जिस दौर में यहां कांग्रेस ने सन 2000 में सत्ता संभाली थी। भूपेश सरकार ने 3 माह में यह एहसास करा दिया कि भाजपा की सरकार ने 15 वर्षों में जो विकास किया और राज्य को आर्थिक मजबूती दी उसे फिर से बीमारू राज्य में बदल देने का पूरा इंतजाम कर दिया गया है और प्रदेश पाई-पाई को मोहताज है।

No comments

Powered by Blogger.