Your Ads Here

सरकार ने गूगल और एपल को एप डिलीट करने को कहा


  • टिक टॉक को तगड़ा झटका

नई दिल्ली  । फेसबुक, व्हाट्सएप के बाद लोगों को दीवाना बनाने वाले चीनी वीडियो शेयरिंग एप्लीकेशन टिक टॉक पर भारत सरकार ने शिकंजा कसा है। एक मीडिया रिपोर्ट के मुुताबिक भारत सरकार ने गूगल और एपल को कहा है कि वे इसको एप स्टोर से हटा दें। उक्त आदेश इलेक्ट्रॉनिक और इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी मिनिस्ट्री की तरफ से जारी किया गया है। दरअसल एक दिन पहले ही सुप्रीम कोर्ट ने टिक टॉक की ओर से बैन पर स्टे लगाने की अपील को खारिज किया था। 
सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अगुवाई वाली बेंच ने इस मामले की सुनवाई की अगली तारीख 22 अप्रैल रखी है, क्योंकि मद्रास हाई कोर्ट 16 अप्रैल को इस मामले की सुनवाई कर सकता है। घटनाक्रम की जानकारी रखने वाले दोनों लोगों ने बताया कि मिनिस्ट्री ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स ऐंड इंफॉर्मेशन टेक्नॉलजी का ऑर्डर इस ऐप के और डाउनलोड्स को रोकने में मदद करेगा। लेकिन, जिन लोगों ने पहले ही टिक टॉक ऐप को डाउनलोड कर रखा है, वह अपने स्मार्टफोन पर इसका इस्तेमाल कर पाएंगे। 

No comments

Powered by Blogger.