Your Ads Here

बजट में बस्तर में नई रेल सुविधाओं के लिए नहीं मिली फूटी कौड़ी


  • बस्तर को राजधानी रायपुर से जोडऩे कोई बजट नहीं 
जगदलपुर । बस्तर की विकास योजनाओं को लगा हुआ ग्रहण हटने का नाम नहीं ले रहा है। यहां के जन प्रतिनिधि भी क्षेत्र की समस्याओं को लेकर आंख मूंदे हुए हैं। केंद्रीय बजट में बस्तर की लंबी नई रेल लाईनों के लिए बजट में कानी कौड़ी तक नहीं है। 
यहां से 70 किमी दूर ओडि़शा में जैपुर-मलकानगिरी और जैपुर-नौरंगपुर नई रेल लाईन के लिए राशि जारी की गई है। बस्तर में 2015 के बजट में शामिल मलकानगिरी-दंतेवाड़ा, किरंदुल-बीजापुर और 2018 के बजट में शामिल किरंदुल-मनगुरू नई रेललाईन के लिए कोई राशि इस बजट में नहीं दी गई है। संसद में पेश केंद्रीय बजट में बस्तर से होकर गुजरने वाली किरंदुल-कोत्तवालसा रेल लाईन के दोहरीकरण एवं अन्य कार्यों के लिए करीब 300 करोड़ रूपए मिले हैं। बजट में किरंदुल-कोत्तवालसा रेललाईन के लिए प्रावधानित राशि में 90 फीसदी राशि पुराने चल रहे कामों के लिए दी गई है। नये कामों के लिए राशि नहीं मिलने से बस्तर में प्रस्तावित नई रेललाईनों के प्रोजेक्ट के पिछडऩे की स्थिति बनती जा रही है। 
मिली जानकारी के अनुसार वाल्टेयर रेलमंडल के लिए करीब 1773 करोड़ रूपए की राशि आबंटित की गई है। यह राशि विस्तृत जानकारी आने के बाद कुछ बढ़ सकती है। केंद्रीय बजट में ही रेल बजट के भी शामिल होने से बजट पेश होने के एक दो दिन बाद ही रेलवे से जुड़े बजट की जानकारी विस्तार से बाहर आ पाती है। उल्लेखनीय है कि चुनावी साल में यह मामला राजनैतिक रूप से भाजपा पर भारी पड़ रहा है। वह भी जब पार्टी रेललाईन के मामले में बस्तर में क्रेडिट लेते दिखती है। 
बस्तर की महत्वाकांक्षी 2500 करोड़ रूपए की अनुमानित लागत वाली 141 किमी लंबी रावघाट -जगदलपुर रेललाईन के लिए पैसे का बंदोबस्त बस्तर रेलवे प्राईवेट लिमेटेट कंपनी करेगी। कंपनी बैंकों से खुद के साख के आधार पर 80 फीसदी रकम कर्ज के रूप में लेगी, बाकी पैसा एनएमडीसी, सेल, ईरकान तथा छत्तीसगढ़ सरकार लगायेगी। गौरतलब है कि इसी तर्ज पर विभिन्न कंपनियां मिलकर दल्लीराजहरा-रावघाट 95 किमी लंबी रेल लाईन का निर्माण कर रहे हैं। मलकानगिरी-दंतेवाड़ा, किरंदुल-बीजापुर, और किरंदुल-मनगुरू के बीच प्रस्तावित रेल लाईन के सर्वे के लिए भी पैसा नहीं मिला है। इससे रेल संपर्कविहीन सुकमा, बीजापुर जिले में रेल कनेक्टीविटी के लिए और लंबा इंतजार करना पड़ेगा।  

No comments

Powered by Blogger.