Your Ads Here

बजट में शामिल करने के बावजूद कामों को नहीं दी जाती है प्रशासकीय स्वीकृति - अजीत जोगी


  • -2016-17 के बजट में शामिल 13 में से 9 कार्यों को नहीं मिली प्रशासकीय स्वीकृति
  • -मंत्री कमजोर इसलिए सदन में एक कार्य की भी प्रशासकीय स्वीकृति की घोषणा नहीं कर पा रहे - जोगी
रायपुर । मरवाही विधानसभा के अंतर्गत बजट में लोक निर्माण विभाग में शामिल किए गए 13 कार्यों में से 9 कार्यों की प्रशासकीय स्वीकृति नहीं दिए जाने के मामले में मरवाही विधायक एवं पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के सवाल पर जवाब देते हुए लोक निर्माण विभाग मंत्री ताम्रध्वज साहू ने बताया कि राशि के अभाव में उपरोक्त निर्माण कार्यों को स्वीकृति नहीं दी गई थी। विधानसभा के बजट सत्र में बुधवार को मरवाही विधायक एवं पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने लोक निर्माण विभाग मंत्री से सवाल पूछा था कि वर्ष 2016-17 के बजट मरवाही विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत किन-किन पहुंच मार्गों की प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान की गई थी तथा किन-किन पहुंच मार्गों का निर्माण कार्य प्रारंभ किया गया एवं किन किन कार्यों को प्रशासकीय स्वीकृति प्रदान नहीं की गई है। जिसका जवाब देते हुए लोक निर्माण विभाग के मंत्री ताम्रध्वज साहू ने बताया कि मरवाही विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत 13 कार्य स्वीकृत किये गए थे जिनमें से गोरेला वेंकटनगर मार्ग एवं भाड़ी से विशेषरा मार्ग का कार्य प्रगति पर है तथा सिवनी से मरवाही एवं बसंतपुर से भाड़ी सड़क निर्माण कार्य निविदा स्तर पर है। विभागीय मंत्री ने बताया कि 9 कार्यों को प्रशासकीय स्वीकृति राशि के अभाव में नहीं दी गई थी। इस पर पूरक प्रश्न करते हुए अजीत जोगी ने विभागीय मंत्री से कहा कि जिन कार्यों को बजट में शामिल किया गया था उन सभी कार्यों को प्रशासकीय स्वीकृति भी प्रदान किया जाना चाहिए क्योंकि बजट में कामों को शामिल करके विधायकों को खुश करने का प्रयास किया जाता है परंतु राशि का अभाव बताकर उन कार्यों को प्रशासकीय स्वीकृति नहीं दी जाती जबकि विधायकों के द्वारा जन भावनाओं एवं जन सुविधाओं के अनुरूप ही कामों का मांग पत्र शासन के समक्ष प्रस्तुत किया जाता है जिसे शासन के द्वारा बजट में शामिल किया जाता है। जोगी विभागीय मंत्री से मांग किया कि चूंकि काम बजट में शामिल हैं इसलिए इनमें से कम से कम एक या दो कामों को तत्काल स्वीकृति प्रदान करने की घोषणा सदन में विभागीय मंत्री के द्वारा की जानी चाहिए। इसपर ताम्रध्वज साहू ने सदन में काम की स्वीकृति देने पर राशि के अभाव का कारण बताते हुए असमर्थता जताया और आश्वस्त किया कि वे स्वीकृति प्रदान करने का प्रयास करेंगे। जिसपर जोगी ने कहा कि मंत्री इतने कमजोर है कि एक काम की भी घोषणा वे सदन में नहीं कर पा रहे हैं। जोगी ने विधानसभा अध्यक्ष से कहा कि वह उनका भी क्षेत्र रहा है इसलिए वे मंत्री को निर्देशित करने का कष्ट करें कि बजट में शामिल उपरोक्त कार्यो में से एक कार्य की स्वीकृति सदन में तत्काल प्रदान की जाए। जोगी की मांग का समर्थन करते हुए विधानसभा अध्यक्ष डॉ चरणदास महंत ने भी ताम्रध्वज साहू को कहा कि आपको कम से कम एक कार्य की स्वीकृति दे दी जानी चाहिए जिस पर ताम्रध्वज साहू ने कहा कि मैं आश्वस्त करता हूं कि बजट में शामिल उपरोक्त कार्यो में से एक कार्य को स्वीकृत करने का प्रयास करूंगा।  

No comments

Powered by Blogger.