RBI बोर्ड की बैठक जारी, कई मुद्दों पर नहीं बन रही सहमति




नई दिल्ली। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के बोर्ड की बहुप्रतीक्षित बैठक देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में जारी है। इस बैठक में केंद्र सरकार और केंद्रीय बैंक के बीच कई मुद्दों पर सहमति बनने की उम्मीद जताई जा रही थी लेकिन इसके आसार नहीं दिख रहे। बोर्ड की बैठक में कुल 19 प्रस्तावों पर चर्चा हो रही है।


एनबीएफसी के लिए अलग विंडो देने पर आरबीआई ने इनकार किया है। आरबीआई ने साफ कर दिया है कि एनबीएफसी को मदद देने का काम बैंक करे। इसके अलावा वह सरकार को सालाना डिविडेंड बढ़ाने पर राजी हो गई है। साथ ही वह बैंकों को ज्यादा नकदी मुहैया कराने के लिए भी तैयार है।



कहा जा रहा है कि सरकार केंद्रीय बैंक के बोर्ड में अपने नामित सदस्यों के जरिये आरबीआई पर अपनी मांगों पर प्रस्ताव जारी करने का दबाव बना सकती है। लेकिन आरबीआई के गवर्नर उर्जित पटेल के रुख को देखकर ऐसा लगता नहीं है। ऐसे में सरकार आरबीआई ऐक्ट के सेक्शन 7 का इस्तेमाल करते हुए आरबीआई को अपनी बात मनवाने के लिए मजबूर कर सकती है। ऐसी स्थिति में पटेल के पास दो ही विकल्प होंगे, या तो वह सरकार की मांगों पर सहमति जता दें या फिर इस्तीफा दे दें।


केंद्रीय बैंक के डेप्युटी गवर्नर विरल आचार्य ने पिछले दिनों साफ शब्दों में सरकार को चेताया था कि अगर उसने संस्थान की स्वायत्तता को ठेस पहुंचाई, तो बाजार को इसके गंभीर परिणाम भुगतने होंगे।