चार महीनों से बंद पड़ा है जिला अस्पताल का वाटर एटीएम


जगदलपुर।   मेडिकल कॉलेज सह महारानी अस्पताल आने वाले हजारों लोगों की सुविधा के लिए अस्पताल परिसर में स्थापित किया गया वॉटर एटीएम भी मेडिकल कालेज के डिमरापाल शिफ्ट होने के साथ ही चार महीने से बंद पड़ा है। इसे दुरुस्त कर जनोपयोगी बनाने की पहल महारानी अस्पताल प्रबंधन भी नही कर रहा है। इसलिए मरीजों के साथ आने वाले परिजनों में नाराजगी देखी जा रही है।
वर्ष 2016 में कुल सात लाख रुपये की लागत से महारानी अस्पताल परिसर में एक वॉटर एटीएम शुरू किया गया था। यहां से लोगों को एक रुपये में एक लीटर शुद्घ पेयजल सुलभ हो रहा था। 26 जुलाई 2018 को मेडिकल कॉलेज डिमरापाल शिफ्ट कर दिया गया, तब से यह वॉटर एटीएम भी बंद पड़ा है। महारानी असपताल परिसर में ही शहर के एक संभ्रांत परिवार ने वॉटर फिल्टर वाला प्याऊ बनवाया है लेकिन यहां का नल भी टूटा हुआ है और इसका रख-रखाव नहीं हो रहा है, इसलिए मरीज के साथ आने वाले लोग अपने साथ पीने का पानी लेकर आते हैं अथवा बाजार से मंहगा पानी बोतल खरीदते हैं। बताया गया कि जिस कंपनी को वॉटर एटीएम रख रखाव का जिम्मा दिया गया था वह भी बीते चार महीने से इसकी सुध नही ले रही है और न ही महारानी अस्पताल प्रबंधन भी इसे फिर से शुरू करने की पहल कर रहा है।