पाक-इटली से जुड़े अमृतसर निरंकारी भवन हमले के तार, मुख्य साजिशकर्ताओं का पर्दाफाश



अमृतसर । अमृतसर में निरंकारी भवन पर ग्रेनेड हमले को लेकर एक और बड़ा खुलासा हुआ है। इस हमले के तार विदेशों से जुड़े हुए हैं। जानकारी के अनुसार अमृतसर में निरंकारी भवन पर ग्रेनेड हमले की साजिश पाकिस्तान के जावेद अौर इटली के परमजीत सिंह बाबा ने रची थी। बाबा ने ही दोनों आतंकियों को हथियार मुहैया करवाए थे। ये खुलासा हमले के दूसरे आरोपी अवतार सिंह से पूछताछ में हुआ है।

मूल रूप से बडाला का रहने वाला परमजीत बाबा अवतार का ममेरा भाई है। अवतार सिंह को शुक्रवार को इंटेलीजेंस टीम ने गिरफ्तार कर पुलिस को सौंप दिया था। इस संबंध में शनिवार को आयोजित पत्रकार वार्तामें डीजीपी सुरेश अरोड़ा ने ये जानकारी दी। हमले के एक आरोपी बिक्रमजीत को पुलिस पहले ही पकड़ चुकी थी। दूसरे आरोपी अवतार को शुक्रवार शाम पकड़ा गया। हालांकि, डीजीपी का कहना है उसे शनिवार सुबह अमृतसर के ख्याला में उसके चाचा के ट्यूबवेल से अरेस्ट किया गया है। अवतार सिंह ने हमले के लिए निरंकारी भवन चुना था।

पीठ दर्द के बहाने जावेद ने किया था अवतार से संपर्क

शुरुआती जांच में सामने आया है कि गांव में आयुर्वेदिक क्लीनिक चलाने वाला अवतार कुछ माह से वाट्सएप के जरिए दुबई में रहते जावेद के संपर्क में था। वह 2012 से निहंगों के वेश में रहता है। खुद को पाकिस्तानी नागरिक कहने वाला जावेद पंजाबी में बात करता था। उसने पीठ दर्द की शिकायत के बहाने अवतार से संपर्क किया था। कुछ दिन बाद उसने सिखों के मसलों पर बातचीत शुरू कर दी। इसके बाद वह अवतार को कौम के ‘दुश्मनों’ को निशाना बनाने के लिए प्रेरित करने लगा। कुछ माह पहले उसने अवतार को पाकिस्तान के हरमीत सिंह हैप्पी उर्फ पीएचडी से मिलवाया। हैप्पी ने अवतार को पंजाब में आतंकी गतिविधियां बढ़ाने को कहा।



इस वजह से किया हमला

अमृतसर |हमले के लिए निरंकारी सत्संग भवन को खुद अवतार सिंह ने चुना था। 2007 में सिरसा डेरामुखी राम रहीम की तरफ से श्री गुरु गोबिंद सिंह जी जैसा वेश धारण करने के बाद से ही अवतार डेरों और दूसरे समुदायों से नफरत करने लगा था। अवतार ने उसी समय गुरु ग्रंथ साहिब सत्कार कमेटी जॉइन की और डेरे के खिलाफ होने वाले विरोध-प्रदर्शनों में हिस्सा लेने लगा। जब दुबई में बैठे पाकिस्तानी नागरिक जावेद ने उसे उकसाया तो वह ग्रेनेड हमले के लिए तैयार हो गया। अवतार ने खुद माना है कि निरंकारी भवन उसे सबसे आसान टारगेट लगा। साथ ही यह ज्यादा दूर भी नहीं था। शाम 5:30 बजे अमृतसर देहाती पुलिस ने अवतार को अजनाला कोर्ट में पेश कर 14 दिन का रिमांड मांगा। अदालत ने उसे सात दिन के रिमांड पर भेज दिया।