Your Ads Here

आधार डीटेल लेकर ग्राहकों को ऑफर दे रही फ्लिपकार्ट और अमेजॉन, वकीलों ने बताया गैर-कानूनी



नई दिल्ली।  ऑनलाइन शॉपिंग वेबसाइट फ्लिपकॉर्ट और अमेजॉन ने हाल ही में ग्राहकों को क्रेडिट पर सामान देने के लिए आधार के इस्तेमाल का ऐलान किया है। फ्लिपकॉर्ट और अमेजॉन के इस कदम को कुछ कुछ वकीलों ने सुप्रीम कोर्ट के हालिया फैसले के खिलाफ बताया है। कोर्ट ने प्राइवेट कंपनियों को ग्राहकों से आधार डीटेल्स मांगने से मना किया है। वकीलों ने कंपनियों के इस कदम को गैर-कानूनी बताया है।



दोनों कंपनियों ने बिक्री बढ़ाने के लिए क्रेडिट/डेबिट कार्ड के बिना ही इंस्टैंट क्रेडिट ऑफर कर रही हैं। इसके लिए ग्राहकों को अपना आधार आईडी नंबर देना होगा। इंस्टैंट लोन से उन ग्राहकों को टारगेट किया जाएगा जो ई-कॉमर्स प्लैटफॉर्म पर सामान चुनकर अपने कार्ट में रख तो लेते हैं लेकिन पैसे या लोन के अभाव में वह ऑर्डर नहीं कर पाते।



ये है अमेजॉन और फ्लिपकॉर्ट के ऑफर
ऐसे ग्राहकों को ध्यान में रखते हुए अमेजॉन और फ्लिपकॉर्ट ने अपने-अपने मोबाइल ऐप पर 60-60 हजार रुपए तक के क्रेडिट ऑफर कर रही हैं, वह भी ब्याज मुक्त। ऐप पर अपना पैन और आधार नंबर डालकर ग्राहक पता कर सकते हैं कि उन्हें कितनी रकम का क्रेडिट दिया गया है। दरअसल, कंपनियां ग्राहकों की पिछली खरीदारियों और पेमेंट हिस्ट्री के मुताबिक क्रेडिट के रूप में अलग-अलग रकम ऑफर कर रही हैं। वकीलों ने कहा कि ई-कॉमर्स कंपनियों का यह ऑफर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सीधा-सीधा उल्लंघन है।



कंपनियों ने दी सफाई
जब फ्लिपकॉर्ट के प्रवक्ता से संपर्क किया गया तो उन्होंने कहा कि कंपनी सभी कानूनों और सुप्रीम कोर्ट के फैसले का पालन करने के प्रति पूर्णतः समर्पित है। वहीं, अमेजॉन इंडिया के प्रवक्ता ने कहा कि कंपनी के लिए दुनियाभर में स्थानीय कानूनों का पालन करना शीर्ष प्राथमिकता रही है। आपको बतां दें कि अमेजॉन का द ग्रेट इंडियन फेस्टिवल 10 से 15 अक्टूबर तक जबकि फ्लिपकॉर्ट की बिग बिलियन डे सेल 10 से 14 अक्टूबर तक चलने वाली है।

No comments

Powered by Blogger.