बुधवार, 24 फ़रवरी 2021

विधानसभा : प्रदेश में बढ़ती रेप की घटनाएं एवं महिला उत्पीडऩ के मुद्दे पर गरमाया सदन


0-भाजपा सदस्यों ने स्थगन प्रस्ताव लाकर चर्चा कराये जाने की मांग की
0-सभापति द्वारा स्थगन प्रस्ताव अग्राह्य करने पर भाजपा सदस्यों ने किया हंगामा
0-सदन की कार्यवाही पांच मिनट के लिए हुई स्थगित

रायपुर। प्रदेश में बढ़ते दुष्कर्म और महिला उत्पीडऩ के मामलों को लेकर विधानसभा आज गरमाया। प्रतिपक्ष भाजपा ने इस मुद्दे को लेकर काम रोको प्रस्ताव लाकर चर्चा कराये जाने की मांग की, जिसे आसंदी ने अग्राह्य कर दिया, जिसके बाद भाजपा सदस्यों ने सदन में नारेबाजी शुरू कर दी। इस हंगामे के दौरान सभापति ने सदन की कार्यवाही पांच मिनट के लिए स्थगित कर दी। 

शून्यकाल में आज भाजपा सदस्यों ने प्रदेश में बढ़ते दुष्कर्म और महिलाओं के उत्पीडऩ मामला उठाते हुए स्थगन प्रस्ताव लाया। भाजपा सदस्य शिवरतन शर्मा ने सबसे पहले स्थगन प्रस्ताव की जानकारी देते हुए आसंदी से कहा कि प्रदेश में महिलाओं से अत्याचार, यौन शोषण की घटनाएं लगातार बढ़ रही है, जिससे महिलाएं प्रदेश में असुरक्षित महसूस कर रही है। इस विषय पर चर्चा होनी जरूरी है। 

भाजपा सदस्य नारायण चंदेल ने कहा कि प्रदेश में महिलाओं के साथ नये किस्म की घटनाएं हो रही है। आदिवासी बालाओ के छात्रावास में अनाचार होने लगे है जो शर्मनाक है। यह बहुत गंभीर विषय है इस पर सदन में चर्चा होनी चाहिए। 

भाजपा सदस्य अजय चंद्राकर ने कहा कि एक लड़की 6 बार बिकती है फिर लापता हो जाती है, जिसके बाद वो आत्महत्या कर लेती है ऐसा प्रकरण थाने में पड़ा रहता है। ऐसे गंभीर विषय पर चर्चा होनी चाहिए। भाजपा सदस्या श्रीमती रंजना साहू ने कहा कि प्रदेश में महिलाओं के साथ छेड़छाड़, रेप, उत्पीडऩ की लगातार घटनाएं बढ़ रही है लेकिन प्रदेश के सभी मंत्री से लेकर मुख्यमंत्री इतक का कोई बयान नहीं आता है, बल्कि एक मंत्री एक घटना को छोटा कहते है जो बेहद शर्मनाक है। उन्होंने कहा कि महिलाओं के साथ हो रहे अपराध पर सरकार का मौन रहना एक प्रकार से मौन सहमति दिखती है। 

प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने स्थगन प्रस्ताव पर आसंदी से चर्चा कराये जाने की मांग करते हुए कहा कि यह गंभीर विषय है। उन्होंने कहा कि अपराध दर्ज नहीं होने की वजह से सभी जिलों में घटनाएं घट रही है, जिससे पूरे प्रदेश की महिलाओं में असुरक्षा का भाव है। इस विषय पर चर्चा होने पर सारे तथ्य सामने आयेंगे। भाजपा सदस्य बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि महिलाओं के साथ हो रही अपराधिक घटनाओं को लेकर पूरे प्रदेश में भाजपा महिला मोर्चा द्वारा आंदोलन किया जा रहा है। राजधानी रायपुर में भी जेल भरो आंदोलन की तैयारी की जा रही है। इस विषय पर सदन में चर्चा होनी चाहिए। नेताप्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि प्रदेश में कांग्रेस सरकार बनने के बाद से समाचार पत्रों व टीवी में अनाचार जैसे ही घटनाएं देखने को मिल रही है। प्रदेश में महिलाएं अब सुरक्षित नहीं है कहीं गैंगरेप तो कहीं झांसा देकर ले जा रहे है। प्रदेश में भयावह स्थिति है। श्री कौशिक ने प्रदेश के गृहमंत्री को लाचार है कहते हुए कहा कि उन्हें तो यह तक खबर नहीं होती कि किस एसपी का कब ट्रांसफर हो जाए। इसकी खबर उन्हें दूसरे दिन अखबारों में छपी खबर से लगती है। प्रदेश में लगातार हो रहे महिला उत्पीडऩ को लेकर जो आकड़ा सदन में प्रश्रों के उत्तर के माध्यम से प्रस्तुत किया जा रहा है उनमें भी अंतर है। इस तरह आकड़ों को भी छिपाया जा रहा है। उन्होंने आसंदी से मांग की कि इस विषय पर सदन में चर्चा होनी चाहिए। सभापति ने भाजपा सदस्यों की बात सुनने के बाद उनके द्वारा लाये गये स्थगन प्रस्ताव को अग्राह्य कर दिया, जिसके बाद भाजपा सदस्यों ने सदन में नारेबाजी शुरू कर दी । इस शोर शराब के दौरान सभापति ने सदन की कार्यवाही पांच मिनट के लिए स्थगित कर दी। इसके बाद सदन की कार्यवाही पुन: शुरू हुई।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Top Ad 728x90