बुधवार, 24 फ़रवरी 2021

,

छत्तीसगढ़ विधानसभा: स्वास्थ्य टी.एस. सिंहदेव बोले- एम्स में भी होगा अब पोस्टमार्टम


-नेताप्रतिपक्ष कौशिक ने सदन में उठाया पोस्टमार्टम रिपोर्ट में देरी का मामला

-सिंहदेव ने कहा-कई छोटे-छोटे कारण से रिपोर्ट आने में देरी होती है

रायपुर। विधानसभा में आज नेताप्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने पोस्टमार्टम की रिपोर्ट देरी से आने के कारण मृतकों के परिजनों को होने वाली परेशानियों का मुद्दा जोरशोर से उठाया।  उन्होंने कहा कि ऐसी कोई व्यवस्था की जाए कि सात दिवस के भीतर पोस्टमार्टम रिपोर्ट आ जाये। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कहा कि रिपोर्ट देरी से आने के कई छोटे-छोटे कारण है। लेकिन हम सुनिश्चित करेंगे कि रिपोर्ट जल्द से जल्द आ जाये। उन्होंने यह भी कहा कि सर्वाधिक लंबित मामले रायपुर के होते है इसलिए अब एम्स से भी बातचीत हुई है। जल्द ही एम्स में भी पोस्टमार्टम होना शुरू हो जाएगा। 

प्रश्रकाल में आज नेताप्रतिपक्ष श्री कौशिक ने यह मामला उठाते हुए स्वास्थ्य मंत्री से पूछा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट कितने दिनों के अंदर परिजनों और पुलिस विभाग को उपलब्ध कराये जाने के नियम है तथा कितने पोस्टमार्टम रिपोर्ट लंबित है और क्यों।

स्वास्थ्य मंत्री श्री सिंहदेव ने इसके जवाब में बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट 7 दिवस के भीतर पुलिस विभाग को उपलब्ध कराये जाने के नियम है। उन्होंने यह भी बताया कि प्रश्रावधि तक 317 प्रकरण लंबित थे, जिनमें से अब कुल 18 प्रकरण ही शेष लंबित है। इनमें 10 प्रकरण रायपुर के और 08 प्रकरण बिलासपुर के है। श्री सिंहदेव ने बताया कि राजधानी रायपुर होने के कारण मेकाहारा में पोस्टमार्टम के सभी अधिक प्रकरण आते है इसलिए यहां प्रकरण ज्यादा लंबित रहते है। स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि एम्स से हमारी बातचीत हुई है। इसके बाद एम्स में भी जल्द पोस्टमार्टम किया जाएगा, वहीं बिलासपुर में लंबित 08 प्रकरण को लेकर मंत्री ने बताया कि जिस डाक्टर द्वारा पोस्टमार्टम किया गया था उनकी मृत्यु हो गई है, जिसके कारण रिपोर्ट आने में देरी हो रही है। 

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि अब हर महीने समीक्षा होगी और पोस्टमार्टम रिपोर्ट जल्द से जल्द मिले सुनिश्चित किया जाएगा।  नेताप्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा कि कई बार तो शव पड़ा होता है पर उसका पोस्टमार्टम नहीं होता। कई बार तो शव का पोस्टमार्टम कराने के लिए भी एप्रोज लगाना पड़ता है। यह बहुत चिंता का विषय है।

भाजपा सदस्य शिवरतन शर्मा ने भी कहा कि कई प्रकरणों में बीसरा जांच में विलंब के कारण रिपोर्ट आने में देरी होती है। उन्होंने मंत्री से पूछा कि क्या बिसरा जांच की रिपोर्ट जल्द आये ताकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट समय पर मिल सके इसके लिए कोई व्यवस्था करेंगे। इस पर स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि बिसरा जांच की रिपोर्ट हमारे हाथ में नहीं होता।  भाजपा सदस्य डा. कृष्णमूर्ति बांधी ने कहा कि दूरस्थ अंचलों में खासकर बरसात के दिनों में शव को लाने में बहुत परेशानियां आती है ऐसे में क्या मोबाईल वेन जैसी सुविधा उपलब्ध कराया जाएगा। इस पर स्वास्थ्य मंत्री ने भाजपा सदस्य के प्रश्र की तारीफ करते हुए कहा कि यह सही है कि दूरस्थ अंचलों में शव को पोस्टमार्टम कराने लाने में परेशानियां होती है। उन्होंने कहा कि कई जगहों पर पोस्टमार्टम कक्ष की कमी होती है ऐसे में दिक्कतें होती है, लेकिन हम इसके लिए पूरा प्रयास करेंगे कि दिक्कतें न हो ।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Top Ad 728x90