बुधवार, 26 अगस्त 2020

कप्तानी छोडऩे का विचार कभी नहीं आया: अजहर अली



साउथम्पटन। पाकिस्तान के कप्तान अजहर अली ने इंग्लैंड के खिलाफ सीरीज 0-1 से हारने के बाद हो रही आलोचना के मद्देनजर कहा है कि कप्तानी छोडऩे का विचार कभी उनके मन में नहीं आया। पाकिस्तान ने अजहर के नाबाद शतक और बारिश के सहारे तीसरा टेस्ट ड्रा कराया।
अजहर को पहले दो टेस्ट मैचों में रन नहीं बनाने के कारण आलोचना झेलनी पड़ी थी लेकिन तीसरे टैस्ट मैच की पहली पारी में उन्होंने नाबाद शतक (नाबाद 141)लगाया। तीसरा टेस्ट ड्रा हो जाने के बाद जब उनसे कप्तानी के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, " पहला टेस्ट हारने के बाद हमारे सामने चुनौतियां बढ़ गई थीं और हम संकट के दौर से गुजर रहे थे। इसका पूरा ठीकरा मेरे माथे पर फोड़ा गया। पाकिस्तान के पूर्व कप्तान वसीम अकरम ने पहले टेस्ट की हार के बाद कहा था कि अजहर के खराब प्रदर्शन और कप्तानी को देखते हुए पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को सीरीज के बाद नए कप्तान के बारे में सोचना चाहिए। उल्लेखनीय है कि पाकिस्तान ने तीन मैचों की सीरीज 0-1 से गंवाई। इंग्लैंड ने पहला टेस्ट जीता लेकिन दूसरा और तीसरा मैच बारिश से प्रभावित रहे और ड्रॉ समाप्त हुए। इंग्लैंड की पाकिस्तान को 2010 में में 3-1 से हराने के 10 साल बाद पाकिस्तान के खिलाफ यह पहली टेस्ट सीरीज जीत थी। दोनों टीमें अब 28 अगस्त से तीन मैचों की टी-20 सीरीज खेलेंगी।
अजहर ने कहा, "यह आसान नहीं था। हां, दबाव था लेकिन मैंने अपने प्रदर्शन पर ध्यान केंद्रित किया। मेरा पूरा ध्यान सीरीज में वापसी करने पर था। मेरे दिमाग में कभी यह बात (कप्तानी छोडऩे की) नहीं आयी।" अजहर ने पहले दो टेस्ट मैचों में 0,18 और 20 का स्कोर करने के बाद तीसरे मैच में नाबाद 141 और 31 रन बनाए। पाकिस्तान के शीर्षक्रम के बल्लेबाज अली ने कहा, "पहले टेस्ट में मिली हार भारी पड़ी। अगर हम वह मैच जीत गए होते तो आज सीरीज भी हमारे नाम होती।" उन्होंने इंग्लैंड को दवाब में अच्छे खेल दिखाने का श्रेय दिया।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90