शनिवार, 4 जुलाई 2020

चीन के सुपर डैन ने लिया संन्यास


बीजिंग। चीन के करिश्माई बैडमिंटन खिलाड़ी और सुपर डैन के नाम से मशहूर लिन डैन ने शनिवार को सोशल मीडिया पर अपने संन्यास की घोषणा कर दी और इसके साथ ही उनके राष्ट्रीय टीम के साथ 20 साल के चमकदार करियर का समापन हो गया। दो बार के ओलम्पिक चैंपियन और पांच बार के विश्व चैंपियन लिन डैन ने चीन के ट्विटर जैसे सोशल मीडिया वीबो पर कहा," 2000 से 2020 तक, 20 साल के बाद मैं राष्ट्रीय टीम को अलविदा कह रहा हूं, हालांकि ऐसा करना मेरे लिए बहुत मुश्किल था।" लिन डैन ने 2008 के बीजिंग ओलम्पिक और 2012 में लंदन ओलम्पिक में स्वर्ण पदक जीते। वह ओलम्पिक खिताब बरकरार रखने वाले पहले खिलाड़ी बने थे। लिन डैन ने कहा,"मैं 37 साल का हो चुका हूं और मेरी शारीरिक स्थिति और चोटें मुझे अब अनुमति नहीं देती हैं कि मैं अब कोर्ट पर उतारकर विपक्षी का मुकाबला कर सकूं। आने वाले दिनों मैं उम्मीद करता हूं कि मैं अपने परिवार के साथ ज्यादा समय बिता पाऊंगा। सुपर डैन ने कहा," चार ओलम्पिक खेलने के बाद मैंने कभी खेल को छोडऩे के बारे में नहीं सोचा था और न ही मैं इस बारे में सोचना चाहता था। मैंने अपना सब कुछ इस खेल को समर्पित कर दिया था जिसे मैं बहुत प्यार करता हूं। बाएं हाथ के खिलाड़ी ने 2006 से 2013 के बीच पांच विश्व खिताब और छह आल इंग्लैंड खिताब जीते। उनकी अगुवाई में चीन ने छह बार पुरुष टीम चैंपियनशिप थॉमस कप और पांच बार मिश्रित टीम प्रतियोगिता सुदीरमन कप जीता। उन्होंने अपनी राष्ट्रीय टीम को एशियाई खेलों में तीन स्वर्ण पदक दिलाये और खुद एशियाई खेलों में दो व्यक्तिगत स्वर्ण पदक जीते।
उन्होंने अपने देश, कोचों, परिवार और प्रशंसकों को धन्यवाद दिया जिनकी बदौलत उनका करियर इतना लम्बा चल सका। लिन डैन ने साथ ही अपने शानदार प्रतिद्वंद्वियों को भी धन्यवाद दिया जिन्होंने उन्हें अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के लिए प्रेरित किया। लिन डैन और मलेशिया के ली चोंग वेई के बीच की प्रतिद्वंद्विता बैडमिंटन के एकल इतिहास में सर्वश्रेष्ठ मानी जाती है। चोंग वेई को बीजिंग और लंदन ओलम्पिक फाइनल में लिन डैन के हाथों हार का सामना करना पड़ा था। ली ने स्वास्थ्य कारणों से गत वर्ष जून में संन्यास ले लिया था। लिन की घोषणा के बाद ली ने वीबो पर लिन डैन को महानतम प्रतिद्वंद्वी बताया। इंडोनेशिया के तौफीक हिदायत,डेनमार्क के पीटर गेड, ली और लिन को बैडमिंटन की दुनिया की सर्वश्रेष्ठ चौकड़ी माना जाता है।
लिन के टोक्यो ओलम्पिक में उतरने और पांचवां ओलम्पिक खेलने की संभावना बहुत कम थी। टोक्यो ओलम्पिक को 2021 तक स्थगित कर दिए जाने के कारण लिन की टोक्यो उम्मीदों को झटका लगा था। चीन बैडमिंटन संघ ने एक बयान में कहा कि इस वर्ष मार्च में आल इंग्लैंड चैंपियनशिप के बाद वह चीन की राष्ट्रीय टीम के साथ ट्रेनिंग कर रहे थे। लेकिन अब उनके लिए ट्रेनिंग करना मुश्किल हो रहा था और अंतत: उन्होंने संन्यास लेने का फैसला कर लिया। संघ के अध्यक्ष झांग जुन ने लिन को उनके योगदान के लिए धन्यवाद दिया।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90