गुरुवार, 2 जुलाई 2020

अप्रैल 2023 में शुरू होगा निजी ट्रेनों का परिचालन : यादव


नई दिल्ली। निजी ट्रेनों का परिचालन अप्रैल 2023 में शुरू होने की उम्मीद है और उसके बाद सभी यात्रियों को कंफर्म टिकट मिलने लगेगा। रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष विनोद कुमार यादव ने आज यहाँ एक संवाददाता सम्मेलन में यह बात कही। उन्होंने बताया कि निजी ट्रेनों के परिचालन के लिए इस साल नवंबर तक वित्तीय बोली आमंत्रित किये जाने की उम्मीद है। अगले साल फरवरी मार्च तक वित्तीय बोली के आधार पर क्लस्टरों का आवंटन कर दिया जायेगा और उम्मीद है कि अप्रैल 2023 तक देश में निजी ट्रेन चलनी शुरू हो जाएंगी। उन्होंने स्पष्ट किया कि किसी भी मार्ग पर मौजूदा ट्रेनों को बंद कर निजी ट्रेनें शुरू नहीं की जायेंगी। ये ट्रेनें मौजूदा ट्रेनों के अतिरिक्त होंगी। निजी ट्रेनों के लिए उन्हीं मार्गों का चयन किया गया है जहाँ अभी बहुत ज्यादा माँग है और बड़ी संख्या में लोगों के टिकट प्रतीक्षा सूची में रहने के कारण रद्द हो जाते हैं। निजी ट्रेनों का किराया तय करने का अधिकार उसे चलाने वाली कंपनी के पास होगा। इससे किराया बढऩे की आशंका के बारे में श्री यादव ने कहा कि हर साल तकरीबन पाँच करोड़ लोगों के टिकट प्रतीक्षा सूची में रह जाते हैं। निजी ट्रेनें आने से जो लोग महँगी यात्रा कर सकते हैं वे उनमें सफर करेंगे जिससे भारतीय रेल की ट्रेनों में गरीब यात्रियों को कंफर्म टिकट मिल सकेंगे। उन्होंने बताया कि वर्ष 2018 तक रेलयात्रियों की सालाना संख्या पिछले साल के 8.4 अरब डॉलर से बढ़कर 18 अरब डॉलर पर पहुँच जायेगी। इसे देखते हुये आधुनिक तकनीक अपनाकर यात्रा समय कम करने की जरूरत है।
रेलवे ने निजी ट्रेनों के लिए बुधवार को निविदा प्रक्रिया शुरू की थी। इसमें 12 क्लस्टरों में 151 ट्रेनों के परिचालन के लिए 'रिक्वेस्ट फॉर क्वालिफिकेशनÓ आमंत्रित किये गये हैं। हर क्लस्टर के लिए अलग-अलग बोली लगानी होगी। कुल 109 मार्गों पर निजी ट्रेन ऑपरेटरों को परिचालन की अनुमति देने का प्रस्ताव है।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90