सोमवार, 29 जून 2020

इंग्लैंड के शीर्ष बल्लेबाजी क्रम पर करेंगे प्रहार: अजहर


इस्लामाबाद। पाकिस्तानी क्रिकेट टीम के कप्तान अजहर अली का मानना है कि इंग्लैंड का शीर्ष बल्लेबाजी क्रम काफी कमजोर है जिस पर प्रहार कर मेजबान टीम को दबाव में डाला जा सकता है। अजहर ने इंग्लैंड दौरे के लिए रवाना होने से पहले कहा, " एलेस्टेयर कुक के 2018 में संन्यास लेने के बाद से ही इंग्लैंड का शीर्ष बल्लेबाजी क्रम काफी कमजोर रहा है जिसका लाभ उठाकर हम उन पर दबाव बना सकते हैं। सितंबर 2018 में कुक के अंतिम टेस्ट के बाद से ही इंग्लैंड अपने शीर्ष क्रम को स्थिर करने में असफल रहा है और उसने लगातार बदलाव किए हैं। तब से लेकर अब तक 18 टेस्ट मैचों में इंग्लैंड सलामी बल्लेबाजों की छह अलग-अलग जोडिय़ों को आज़मा चुका है। किसी भी सलामी जोड़ी ने नौ से अधिक बार पारी की शुरुआत नहीं की है।" पाकिस्तानी कप्तान ने कहा, " इंग्लैंड टीम का गेंदबाजी आक्रमण काफी मजबूत है और इसको लेकर कोई आशंका नहीं है कि वह घरेलू पिचों पर शानदार गेंदबाजी करते हैं। जोफ्रा आर्चर को छोड़कर हम स्टुअर्ट ब्रॉड, जेम्स एंडरसन, क्रिस वोक्स और बेन स्टोक्स समेत उनके सभी गेंदबाजों का सामना कर चुके हैं और उनके खिलाफ जीते भी हैं। उनकी बल्लेबाजी को देखा जाए तो कुक के संन्यास लेने के बाद से ही उनका शीर्ष क्रम काफी कमजोर रहा है। उनके शीर्ष क्रम के बल्लेबाजों में आत्मविश्वास की काफी कमी देखी जा सकती है इसलिए हम उनकी इस कमजोरी का फायदा उठा सकते हैं। हाल के वर्षों में पाकिस्तानी टीम का इंग्लैंड में रिकार्ड काफी अच्छा रहा है। पाकिस्तान ने इंग्लैंड में खेले गए पिछले छह टेस्ट मैचों से तीन में जीत हासिल कर दो सीरीज ड्रा कराई हैं। पाकिस्तान और इंग्लैंड के बीच 2016 में खेली गयी टेस्ट सीरीज 2-2 से ड्रा रही थी जबकि 2018 की सीरीज का परिणाम भी 1-1 के साथ बराबरी पर रहा था।
अजहर ने कहा कि 2016 के बाद से इंग्लैंड का दौरा करने वाली टीमों मे से केवल पाकिस्तान ही ऐसी टीम है जिसने एक टेस्ट में 500 रन से अधिक का स्कोर बनाया है। उन्होंने कहा कि 2017 की चैंपियंस ट्रॉफी में मिली खिताबी जीत से भी उनका आत्मविश्वास काफी ऊंचा है कि वह इस दौरे में बेहतर प्रदर्शन कर सकते हैं। अजहर ने कहा, " इंग्लैंड के गेंदबाजों के पास काफी अनुभव है लेकिन हमारे पास भी क्षमता है और हमारे गेंदबाज युवा हैं और वह दुनिया की किसी भी टीम को संकट में डाल सकते हैं। कम समय में उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया है जो एक अच्छा संकेत है। पाकिस्तानी कप्तान ने कहा कि कोचिंग स्टाफ में वकार युनुस और मुश्ताक अहमद जैसे अनुभवी खिलाडिय़ों के होने से भी टीम को काफी मदद मिलेगी।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90