सोमवार, 13 अप्रैल 2020

अब सावधानी से उत्पादन गतिविधियां शुरू होनी जरूरी : कांग्रेस


नई दिल्ली। कांग्रेस ने कहा है कि 21 दिन के लॉकडाउन के बाद छोटे उद्यमों में उत्पादन गतिविधियों को धीरे-धीरे दोबारा शुरू कर ज़रूरी वस्तुओं की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए ट्रकों की आवाजाही बहाल किये जाने के साथ ही और उद्योगों को शून्य ब्याज दर पर ऋण उपलब्ध कराये जाने चाहिए।
कांग्रेस प्रवक्ता आनन्द शर्मा ने सोमवार को यहां संवाददाता सम्मेलन में कहा कि भारत की स्थिति लॉकडाउन का सामना कर रहे अन्य कई देशों की तुलना में भिन्न है। भारत मे 21 दिन के लॉकडाउन से कई उद्योग बन्द होने की कगार पर हैं और उन्हें दोबारा शुरू करना कठिन हो रहा है, इसलिए निर्यात से जुड़े उद्योगों को शून्य दर पर ऋण दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि कृषि एवं खाद्य प्रसंस्करण उद्योगों की भी हालत बहुत खराब है। भारतीय उद्योग लम्बी अवधि तक लॉकडाउन नहीं झेल सकते। यदि ये उद्योग शुरू नही होंगे तो करोड़ों लोगों के समक्ष रोजगार का संकट हो जाएगा और करोड़ों लोग गरीबी की रेखा से नीचे चले जायेंगे, इसलिए सरकार को उनके लिए दूसरा राहत पैकेजे लाने की घोषणा करनी चाहिए। शर्मा ने कहा कि देश के समक्ष असाधारण चुनौती आयी है और इससे निपटने के लिए सरकार को आर्थिक विकास दर की चिंता किये बिना कदम उठाना चाहिए। सरकार के पास पैसे की कमी नहीं है और उसको किसी राज्य के साथ भेदभाव किये बिना सबको आर्थिक पैकेज देना चाहिए। 

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Top Ad 728x90