शनिवार, 18 अप्रैल 2020

कोरोना संकट में जापान सभी नागरिकों को देगा 71,161 रुपये


प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने की घोषणा

टोक्यो। कोरोना संकट के बीच जापान प्रत्येक निवासी को एक लाख येन (930 डॉलर) यानी करीब 71,161 रुपये का नकद भुगतान प्रदान करेगा। साथ ही प्रत्येक घर में दो मास्क की डिलीवरी भी शुक्रवार को शुरू कर दी गई। प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने शुक्रवार को टेलीविजन पर इस संबंध में घोषणा की।  आबे ने कहा, हम सभी लोगों को नकदी पहुंचाने के लिए तेजी से आगे बढ़ रहे हैं। प्रभावितों लोगों और परिवारों को तीन बार यह राशि प्रदान करने की प्रारंभिक योजना है। उन्होंने आपातकाल योजना पर भ्रम के लिए माफी मांगी। आबे ने कहा कि अधिकारियों ने 06 मई को सार्वजनिक अवकाश के अंत में स्थिति को फिर से स्वीकार करते हुए कहा, यदि हम सभी बाहर जाने से बच सकते हैं, तो हम दो सप्ताह में रोगियों की संख्या में भारी कमी कर सकते हैं।
आबे ने कहा कि यह निर्णय अप्रैल के अंत और मई की शुरुआत में गोल्डन वीक की छुट्टियों के दौरान घरेलू यात्रा को प्रतिबंधित करने के लिए लिया गया था, जब कई जापानी परिवार कहीं और जाने के लिए शहरों को छोड़ देते हैं।  अफ्रीका के लिए संयुक्त राष्ट्र आर्थिक आयोग की एक रिपोर्ट में अफ्रीका में कोरोना वायरस संक्रमण से तीन लाख लोगों की मौत होने की आशंका जताई गई है। रिपोर्ट में बताया गया कि सामान्य स्थिति में तीन लाख लोगों की मौत हो सकती है। अगर हालात खराब हुए और वायरस को रोकने के लिए हस्तक्षेप नहीं किया गया, तो अफ्रीका में 33 लाख लोगों की जान जा सकती है और 120 करोड़ लोग संक्रमित हो सकते हैं। इम्पेरियल कॉलेज लंदन के मॉडल के आधार पर गणना करते हुए रिपोर्ट में बताया गया कि इस महाद्वीप पर अगर सामाजिक दूरी का पालन अच्छी तरह किया जाए और हालात ठीक रहते हैं, तो भी 12.2 करोड़ से ज्यादा लोग लोग संक्रमित हो सकते हैं। विशेषज्ञों ने कहा कि अफ्रीका की कमजोर स्वास्थ्य प्रणाली के लिए यह काफी मुश्किल होगा। अफ्रीका में 18,000 से ज्यादा लोग कोरोना से संक्रमित हैं।
बांग्लादेश सरकार ने घोषणा की कि पूरा देश कोरोना के खतरे से जूझ रहा है। बांग्लादेश में शुक्रवार को एक दिन में सर्वाधिक 15 लोगों की मौत होने के साथ ही मृतक संख्या 75 पहुंच गई है। वहीं 266 नए मामले आने के साथ ही संक्रमितों की संख्या 1,838 हो गई।  स्वास्थ्य सेवा महानिदेशालय द्वारा गुरुवार को जारी आदेश के मुताबिक, पूरे बांग्लादेश को देश के संक्रामक रोग (रोकथाम, नियंत्रण और उन्मूलन) अधिनियम, 2018 के तहत कोविड-19 संक्रमण के लिए जोखिम पूर्ण क्षेत्र घोषित किया गया है।

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Top Ad 728x90