गुरुवार, 5 मार्च 2020

संसद में कांग्रेस की आवाज दबाना चाहती है सरकार : अधीर

नई दिल्ली। लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा है कि सरकार दिल्ली हिंसा को लेकर सदन में चर्चा के दौरान कांग्रेस की आवाज को कमजोर करना चाहती है इसलिए उसके सात सदस्यों को पूरे सत्र के लिए निलम्बित किया गया है। श्री चौधरी ने गुरुवार को संसद भवन परिसर में संवाददाताओं से कहा कि सरकार बदले की भावना से काम कर रही है और उसकी यह भावना सदन में भी देखने को मिल रही है। कांग्रेस के सात सदस्यों को अध्यक्ष ने नहीं बल्कि पीठासीन उपाध्यक्ष ने पूरे सत्र के लिए निलम्बित करने का आदेश दिया है। उन्होंने कहा कि सरकार चाहती है कि दिल्ली हिंसा को लेकर सदन में चर्चा के दौरान कांग्रेस की आवाज कमजोर हो इसलिए उसके सदस्यों को निलम्बित किया गया है। उन्होंने कहा कि यह सरकार का फैसला है और यह फैसला कितना गलत है, देश की जनता को तय करना है।
चौधरी ने कहा "हमारे सदस्यों को निलम्बित कर यदि सरकार सोचती है कि कांग्रेस डर जाएगी तो उसे समझ लेना चाहिए कि कांग्रेस डरने वाली नहीं है। सरकार के गलत कदमों के विरुद्ध कांग्रेस निरंतर संघर्ष करेगी और उसका विरोध करती रहेगी। कांग्रेस दिल्ली दंगों को लेकर चर्चा की मांग कर रही है लेकिन आश्चर्य की बात यह है कि उसकी इस मांग पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि दिल्ली में हिंसा के दौरान जो कुछ हुआ उससे न सिर्फ देशवासियों को जानमाल का नुकसान झेलना पड़ा बल्कि देश का नाम भी दुनिया में बदनाम हुआ है। उनकी पार्टी इस हिंसा को लेकर सदन में चर्चा की मांग कर रही है लेकिन उनकी बात को नकारा जा रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार जो चाहती है, विपक्षी दल उसका सहयोग करते हैं। यहां तक कि कोरोना वायरस को लेकर सरकार बयान देना चाहती थी और उसको पूरा सहयोग दिया गया लेकिन सरकार बदले की भावना से काम कर रही है।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90