सोमवार, 23 मार्च 2020

सर्जिकल मास्क और वेंटीलेटर के निर्यात की साजिश किसकी शह पर हुई: राहुल

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने सर्जिकल मास्क, वेंटिलेटर तथा अन्य उपकरणों के निर्यात की अनुमति देने के लिए सरकार की कड़ी आलोचना करते हुए इसे एक सोची समझी साजिश करार दिया और सवाल किया कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की सलाह के बावजूद यह कदम किसकी शह पर उठाया गया है। गांधी ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को संम्बोधित करते हुए ट्वीट किया,  आदरणीय प्रधानमंत्री जी, डब्लूएचओ की वेंटिलेटर, सर्जिकल मास्क का पर्याप्त स्टॉक रखने की सलाह के विपरीत भारत सरकार ने 19 मार्च तक इन सभी चीजों के निर्यात की अनुमति क्यों दीं? उन्होंने इस अनुमति को कोरोनो वायरस के मद्देनजऱ एक आपराधिक साजिश बताया और सरकार से पूछा, "ये खिलवाड़ किन ताक़तों की शह पर हुआ? क्या यह आपराधिक साजिश नहीं है। इससे पहले कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने भी ट्वीट कर सरकार के इस रवैये की आलोचना की और आरोप लगाया कि उसने 10 गुना ज्यादा दाम पर इस समान का निर्यात किया गया है।
उन्होंने ट्वीट कर कहा, "डब्ल्यूएचओ ने वेंटिलेटर, सर्जिकल मास्क, सर्जिकल डिस्पोजेबल, कॉवेराल के निर्यात की भारत ने 19 मार्च तक 10 गुना मूल्य पर बेचने की अनुमति दी। इसके साथ ही उन्होंने केन्द्र सरकार के उस आदेश को भी पोस्ट किया है जिसमें इन वस्तुओं के निर्यात की अनुमति दी गयी है। 

0 comments:

एक टिप्पणी भेजें

Top Ad 728x90