गुरुवार, 12 मार्च 2020

रतन लाल की हत्या के मामले में सात गिरफ्तार

नई दिल्ली। नागरिकता (संशोधन) कानून (सीएए) को लेकर उत्तर-पूर्वी दिल्ली में भड़के दंगों के दौरान दिल्ली पुलिस के हेड कांस्टेबल रतन लाल की हत्या के मामले में सात लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस प्रवक्ता और मंदीप सिंह रंधवा ने गुरुवार को पुलिस मुख्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में इसकी जानकारी दी ।
रतन लाल की हत्या दंगाइयों ने 24 फरवरी को चांद बाग इलाके में की थी। रतन लाल को गोलियां लगी थीं। श्री रंधावा ने बताया कि सलीम मालिक, मोहम्मद जलालुद्दीन, मोहम्मद अयूब, मोहम्मद यूनुस, मोहम्मद आरिफ, मोहम्मद दानिश और सलीम खान को रतन लाल की हत्या के मामले में गिरफ्तार किया गया है। दानिश दिल्ली से सटे उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद का रहने वाला है। पुलिस ने बताया कि 85 वर्षीय वृद्धा अकबरी बेेगम की हत्या के मामले में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। वृद्ध को उसके घर में ही दंगाइयों ने जिंदा जला दिया था। रंधावा ने बताया कि अब स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है और वरिष्ठ अधिकारी लगातार स्थिति पर नजर रखे हुए हैं। उन्होंने बताया कि अब तक हिंसक घटनाओं में 712 प्राथमिकी दर्ज की जा चुकी है और 200 से अधिक आरोपी गिरफ्तार हुए हैं। पुलिस को बड़ी संख्या में वीडियो प्राप्त हुई हैं जो उसे इन दंगों से जुड़े मामलों की जांच में काफी मददगार होंगी। रंधावा ने बताया कि चेहरे की पहचान करने वाले साफ्टवेयर की मदद से हिंसक घटनाओं में शामिल लोगों की पहचान की जा रही है और हिंसा की सभी बिन्दुओं से जांच की जा रही है।
उन्होंने बताया कि नाले से मिले चार शवों के सिलसिले में चार लोगों पंकज, सुमित, अंकित और लोकेश को गिरफ्तार किया गया है। प्रवक्ता ने कहा कि हिंसा की लगातार जांच की जा रही है और पुलिस आरोपियों तक पहुंचने के हरसंभव प्रयास कर रही है। पुलिस ने लोगों से अपील की है कि उनके पास हिंसा से जुड़े जो भी वीडियो क्लिप हैं, वे उन्हें मुहैया कराएं।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90