शनिवार, 7 मार्च 2020

'कोविड-19Ó के विकसित किये जा रहे हैं 20 टीके

जिनेवा। दुनिया भर में फैले कोरोना वायरस 'कोविड-19Ó के 20 टीके विभिन्न वैज्ञानिक एवं चिकित्सा संस्थानों द्वारा विकसित किये जा रहे हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के महानिदेशक डॉ. तेद्रोस ए. गेब्रियेसस ने यहाँ संवाददाताओं को बताया "अब तक कोविड-19 के संक्रमण की जाँच के लिए 40 'डायग्नोस्टिक टेस्टÓ की समीक्षा और मंजूरी के लिए हमारे पास आवेदन आये हैं। इसके अलावा 20 टीके भी विकास के चरण में हैं और कई तरह के उपचार अभी क्लिनिकल ट्रायल के चरण में हैं।"
गेब्रियेसस ने कहा कि जब तक इस बीमारी का टीका या उपचार नहीं ढूँढ़ लिया जाता तब तक सभी देशों को इसे फैलने से रोकने पर पूरा ध्यान केंद्रित करना चाहिये। हम राष्ट्रों से अपील करते हैं कि वे कोविड-19 के संक्रमण के मामलों का पता लगाने, उनकी जाँच करने, उन्हें दूसरे लोगों से अलग रखने और उनके संपर्क में आये लोगों का पता लगाने का काम जारी रखें। इसके प्रसार की गति धीमी करने से हमें कई लोगों की जान बचा सकते हैं तथा हमें तैयारियों, अनुसंधान और टीके तथा दवा विकसित करने के लिए समय मिल सकेगा। डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने कहा कि अनुसंधान एवं विकास के मोर्चे पर तत्काल लोगों की जीवन रक्षा और दीर्घावधि के टीके एवं उपचार विकसित करने पर काम चल रहा है। यह जरूरी है कि विभिन्न संस्थानों में चल रहे अनुसंधानों के बीच समन्वय स्थापित किया जाये। उन्होंने कहा कि अभी जिन दवाओं का क्लिनिकल परीक्षण चल रहा है यदि वे प्रभावशाली पाये जाते हैं तो हमें उनकी पर्याप्त उपलब्धता भी सुनिश्चित करनी होगी। कोविड-19 के कारण दवाओं की आपूर्ति में उत्पन्न हुई बाधाओं पर डब्ल्यूएचओ नजर रख रहा है। इस बीमारी से सबसे ज्यादा प्रभावित देश चीन दुनिया भर के दवा उद्योग के लिए सक्रिय संघटक का सबसे बड़ा उत्पादक देश है। चीन में हालाँकि अब उत्पादन दुबारा शुरू हो गया है, लेकिन अब भी कुछ चुनौतियाँ हैं। डब्ल्यूएचओ अनिवार्य दवाओं जैसे एंटीबायोटिक, दर्द निवारक तथा मधुमेह, तनाव, एचआईवी, टीबी और मलेरिया जैसी बीमारियों की दवाओं की आपूर्ति सुनिश्चित करने पर ध्यान दे रहा है।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90