शुक्रवार, 21 फ़रवरी 2020

राजनाथ सिंह ने रखी नये 'थल सेना भवन की आधारशिला

नई दिल्ली। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आज यहां दिल्ली छावनी में नये एवं विशाल 'थल सेना भवन की आधारशिला रखी जिसमें थल सेना के सभी विभागों के मुख्यालयों को जगह मिल सकेगी। मानेकशॉ सभागार में आयोजित कार्यक्रम में श्री सिंह ने सैनिकों को संबोधित करते हुए कहा कि नयी इमारत सेना के संसाधनों की बचत और प्रशासनिक दक्षता को बढ़ाने में महत्वपूर्ण योगदान देगी। इससे राष्ट्रीय सुरक्षा को भी मजबूती मिलेगी। नये भवन की आधारशिला को प्रेरणास्रोत बताते हुए रक्षा मंत्री ने कहा कि यह देशवासियों को सैनिकों के सर्वोच्च बलिदान का स्मरण करायेगी। नया भवन सैनिकों को शांतिकाल में परिवार के बीच बिताने का अधिक अवसर मुहैया करायेगा।
उन्होंने कहा कि भारत सैनिकों के बलिदान के कारण ही दुनिया के सबसे शक्तिशाली देशों में से एक बन पाया है। उन्होंने सशस्त्र बलों के एकीकरण के महत्व को रेखांकित करते हुए कहा कि चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ की नियुक्ति और सैन्य मामलों के विभाग का गठन इसी दिशा में हुए फैसले हैं। इससे देश की सैन्य क्षमता और बढ़ेगी। इस मौके पर सेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे भी उपस्थित थे। उल्लेखनीय है कि वर्तमान सेना मुख्यालय आठ इलाकों में बिखरा है जिनमें साउथ ब्लॉक, सेना भवन, हटमेंट्स एरिया, आर के पुरम, शंकर विहार और अन्य स्थान शामिल हैं। नयी इमारत मानेकशा सेंटर के सामने 39 एकड़ भूमि पर बनेगा। इसमें कार्यालय, सुरक्षा कर्मियों के लिए आवासीय परिसर तथा बुनियादी सुविधाएं शामिल होंगी। भवन में 6014 कार्यालय होंगे जिनमें 1684 अधिकारियों तथा 4330 स्टाफ के लिए होंगे। इसका क्षेत्रफल साढ़े सात वर्गमीटर होगा जिसमें पार्किंग भी होगी। इसका निर्माण पांच साल में पूरा होगा।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90