Thursday, 9 January 2020

स्वपन दासगुप्ता बोले- विश्वविद्यालयों में असहिष्णुता का माहौल बना रहा है लेफ्ट

कोलकाता। बीजेपी सांसद और पत्रकार डॉ. स्वपन दासगुप्ता ने आरोप लगाए हैं कि लेफ्ट के लोग विश्वविद्यालयों में असहिष्णुता का माहौल बना रहे हैं। बुधवार को विश्व भारती यूनिवर्सिटी में डॉ. स्वपन दासगुप्ता को घेर लिया गया था। स्वपन दास गुप्ता यहां संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के बारे में लेक्चर देने पहुंचे थे। उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा कि भीड़ में लेफ्ट के साथ-साथ टीएमसी के स्थानीय नेता भी मौजूद थे। डॉ. स्वपन दास गुप्ता ने कहा, 'मुझे सीएए पर बोलने के लिए इसलिए बुलाया गया क्योंकि मैंने इसपर विस्तार से लिखा है। मैं इसके बारे में 2016 में बनी संयुक्त संसदीय समिति का सदस्य भी रहा हूं। हमने किसी को उकसाने जैसा कोई काम नहीं किया, इसके बावजूद हमें कैंपस में घेर लिया गया। मैंने स्थिति के बारे में राज्यपाल जगदीप धनखड़ को सूचना दी तो उन्होंने हस्तक्षेप किया। राज्यपाल ने डीजी को फोन भी किया, इसके बावजूद वीसी पुलिस बुलाने को तैयार नहीं थे। मैं भी नहीं चाहता था कि कैंपस में पुलिस आए।
लेफ्ट पर आरोप लगाते हुए डॉ. दासगुप्ता ने कहा, 'कैंपस में मौजूद लेफ्ट के छात्रों ने हंगामा किया। लोकतंत्र की बात करने वाला लेफ्ट फ्रंट ऐसा माहौल बना रहा है, जिससे लोकतंत्र और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता को खतरा पैदा हो रहा है। देशभर के यूनिवर्सिटी कैंपसों में असहिष्णुता का माहौल तैयार किया जा रहा है। आपने देखा कि इससे पहले जादवपुर यूनिवर्सिटी में क्या हुआ और अब यहां विश्व भारती यूनिवर्सिटी में मेरे साथ क्या हुआ। वहां टीएमसी के कुछ स्थानीय नेता भी मौजूद थे, मैं उनका नाम नहीं ले रहा हूं।

No comments:

Post a Comment