सोमवार, 30 दिसंबर 2019

,

अजित पवार फिर बने उपमुख्यमंत्री, पिता की कैबिनेट में मंत्री बने आदित्य ठाकरे

मुंबई। महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे मंत्रिमंडल के पहले विस्तार में एनसीपी के वरिष्ठ नेता अजित पवार ने उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली। इस मंत्रिमंडल विस्तार में मुख्यमंंत्री उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ठाकरे समेत शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस से 36 नए विधायकों ने भी मंत्री पद की शपथ ली। कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चह्वाण ने ली कैबिनेट मंत्री पद की शपथ। एनसीपी के दिलीव वलसे पाटिल ने ली कैबिनेट मंत्री की शपथ, शरद पवार के करीबी हैं, मिल सकता है बड़ा मंत्रालय। एनसीपी के धनंजय मुंडे ने ली कैबिनेट मंत्री पद की शपथ, भाजपा की वरिष्ठ नेता पंकजा मुंडे को हराया, अजित पवार के करीबी हैं। कांग्रेस के विजय वडेट्टीवार ने ली कैबिनेट मंत्री पद की शपथ, विदर्भ में पार्टी का बड़ा चेहरा हैं, ब्रह्मापुरी विधानसभा सीट से विधायक हैं। अनिल देशमुख ने मंत्री पद की शपथ ली।  एनसीपी के हसन मुश्रीफ ने ली कैबिनेट मंत्री की शपथ, पहले भी रह चुके हैं मंत्री, शरद पवार के करीबी नेता हैं। कांग्रेस की वर्षा गायकवाड ने ली मंत्री पद की शपथ, 2010 से 2014 तक मंत्री रह चुकी हैं। एनसीपी के डॉ राजेंद्र शिंगणे ने भी मंत्री पद की शपथ ली, पांचवी बार विधायक बने हैं, पहले भी मंत्री रह चुके हैं। एनसीपी के नवाब मलिक ने मंत्री पद की शपथ ली, पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता हैं, मुंबई के अणुशक्ति नगर से विधायक हैं। एनसीपी केराजेश टोपे ने ली कैबिनेट मंत्री की शपथ। कांग्रेस के सुनील केदार ने मंत्री पद की शपथ ली। नागपुर की सावनेर सीट से विधायक हैं। शिवसेना से संजय राठौड़ ने मंत्री पद की शपथ ली। दिग्रस सीट से विधायक हैं। भाजपा-शिवसेना की सरकार में भी मंत्री रह चुके हैं। शिवसेना के बड़े नेता माने जाते हैं। शिवसेना से गुलावराव पाटिल ने मंत्री पद की शपथ ली। जलगांव ग्रामीण से विधायक हैं। 2014 की भाजपा-शिवसेना सरकार में राज्यमंत्री रह चुके हैं। शिवसेना के उत्तर महाराष्ट्र के नेता हैं। कांग्रेस के अमित देसमुख ने मंत्री पद की शपथ ली। वह पूर्व मुख्यमंत्री विलासराव देशमुख के बेटे और अभिनेता रितेश देशमुख के भाई हैं। लातूर शहर सीट से विधायक हैं। शिवसेना के दादा भूसे ने मंत्री पद की शपथ ली। मालेगांव आउटर से विधायक हैं। 2014 की भाजपा-शिवसेना सरकार में मंत्री रह चुके हैं। एनसीपी के जीतेंद्र आव्हाड ने मंत्री पद की शपथ ली। पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव हैं। कलवा-मुंब्रा सीट से विधायक हैं। कांग्रेस की यशोमति ठाकुर ने मंत्री पद की शपथ ली। अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी की सचिव हैं। तिबसा सीट से विधायक हैं। शिवसेना के अनिल परब ने मंत्री पद की शपथ ली। शिवसेना के उदय सामंत ने मंत्री पद की शपथ ली। रत्नागिरि से विधायक हैं और पेशे से इंजिनियर हैं। कांग्रेस के केसी पाडवी ने मंत्री पद की शपथ ली। अक्कलकुआं से विधायक हैं। सात बार विधायक रह चुके हैं। कांग्रेस के असलम शेख ने मंत्री पद की शपथ ली। मलाड पश्चिम से विधायक हैं। शिवसेना के आदित्य ठाकरे ने कैबिनेट मंत्री पद की शपथ ली। मुंबई की वरली सीट से पहली बार विधायक चुने गए हैं। वह मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बेटे और बाला साहेब ठाकरे के पोते हैं। वह ठाकरे परिवार से चुनाव लडऩे वाले पहले सदस्य हैं।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90