गुरुवार, 5 सितंबर 2019

,

महादेवघाट के निकट बने विसर्जन कुंड में ही होगा प्रतिमाओं का विसर्जन


रायपुर । राजधानी में इस समय गणेशोत्सव की धूम शुरू हो गई है। इधर गणेश विसर्जन की तैयारियों को लेकर जिला प्रशासन और निगम प्रशासन भी अलर्ट हो गया है। छोटी-बड़ी प्रतिमाओं के विसर्जन के लिए अब तालाबों और नदी का उपयोग नहीं करने का निर्णय लिया गया है। इसके तहत महादेवघाट में पृथक से विसर्जन कुंड बनाया गया है। निगम की ओर से यहां प्रतिमा विसर्जन की तैयारियां शुरू कर दी गई हैं।
गणेशोत्सव की धूम के साथ ही शहर में इस समय रौनक बढ़ गई है। इधर पिछले कुछ सालों की तर्ज पर इस बार भी गणेश प्रतिमाओं के खारून नदी सहित शहर के तालाबों में विसर्जन पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। तालाबों और शहर की जीवन दायिनी खारून नदी को स्वस्थ्य रखने की दिशा में यह पहल सराहनीय है। लोगों के द्वारा भी इस नेक कार्य में पूर्ण सहयोग करते हुए अब प्रतिमाओं का विसर्जन तालाबों में नहीं करने का प्रण लिया गया है। पिछले वर्ष की तरह इस वर्ष भी तालाबों के किनारे निगम के वाहन तैनात रहेंगे। श्रद्धालुओं के द्वारा प्रतिमाओं की पूजा-अर्चना तथा विसर्जन की विधि तालाब किनारे प्रतीकात्मक रूप में होगी और इसके बाद निगम की गाडिय़ां गणेश जी की प्रतिमाओं को लेकर विसर्जन कुंड महादेवघाट पहुंचेगी। यहां सभी प्रतिमाओं को पूर्ण श्रद्धाभाव के साथ कुंड में विसर्जन किया जाएगा। इसी तरह बड़ी प्रतिमाओं के लिए भी यहां क्रेन आदि की व्यवस्था रखी जाएगी। विसर्जन कुंड को तैयार करने के लिए आज इसमें खारून नदी का पानी छोड़ा जाएगा। 

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90