Your Ads Here

लोकसभा चुनाव के पहले चरण का चुनाव प्रचार थमा


  • 11 अप्रैल को 20 राज्यों की 91 सीटों पर होगा मतदान
नई दिल्ली । लोकसभा चुनाव के पहले चरण के लिये 11 अप्रैल को होने वाले मतदान के लिये चुनाव प्रचार मंगलवार शाम थम गया। पहले चरण में 20 राज्यों की 91 लोकसभा सीटों के लिये मतदान होगा।
चुनाव आयोग द्वारा पहले चरण के मतदान के लिये 18 मार्च को अधिसूचना जारी होने के बाद प्रचार अभियान जोर शोर से शुरु हो गया था। आयोग ने 17वीं लोकसभा के गठन के लिये सात चरण में होने वाले चुनाव का कार्यक्रम दस मार्च को घोषित किया था। चुनाव आयोग के अनुसार पहले चरण के लिए 91 सीटों पर 1279 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। आयोग द्वारा अधिसूचना के अनुसार पहले चरण के मतदान वाली 91 सीटों पर सुबह सात बजे मतदान शुरु होगा। इनमें से कुछ सीटों पर शाम चार बजे तक, कुछ पर पांच बजे तक और कुछ सीटों पर छह बजे तक मतदान होगा। निर्वाचन नियमों के अनुसार मतदान खत्म होने के समय से 48 घंटे पहले चुनाव प्रचार थम जाता है। इसके मुताबिक जिन सीटों पर शाम चार बजे तक मतदान है, उन सीटों पर मंगलवार शाम चार बजे से प्रचार थम गया। इसी प्रकार पांच और छह बजे तक मतदान वाली सीटों पर आज शाम पांच बजे और छह बजे से प्रचार पर पाबंदी होगी। उत्तर प्रदेश की आठ सीटों पर सुबह सात बजे से शाह छह बजे तक और बिहार की चार सीटों पर सुबह सात बजे से शाम चार बजे तक मतदान की समय सीमा को देखते हुये उत्तर प्रदेश की आठ सीटों पर मंगलवार शाम छह बजे और बिहार की चार सीटों पर शाम चार बजे चुनाव प्रचार रुक जायेगा।
कई दिग्गजों के भाग्य की होगी परीक्षा
लोकसभा चुनाव के पहले चरण में महाराष्ट्र में नागपुर सीट से केंद्रीय मंत्री नितिन जयराम गडकरी व चंद्रपुर से गृह राज्यमंत्री हंसराज गंगाराम अहीर का मुकाबला होना है, वहीं अरुणाचल प्रदेश वेस्ट से गृह राज्यमंत्री किरेन रिजिजू के अलावा उत्तराखंड की अल्मोडा से अजय टमटा, यूपी की गजियाबाद से विदेश राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह, गौतमबुद्धनगर से पर्यटन मंत्री महेश शर्मा, बागपत से जल संसाधन राज्यमंत्री डा. सत्यपाल सिंह की प्रतिष्ठा भी दांव पर लगी है। जबकि जिन पूर्व केंद्रीय मंत्रियों की अग्नि परीक्षा इस पहले चरण में होनी हैं, उनमें भाजपा के डा. संजीव बालियान व डी. पुरंदेश्वरी, तेदेपा के अशोक गणपति राजू व पान्नबा लक्ष्मी, रालोद के चौधरी अजित सिंह, कांग्रेस की रेणुका चौधरी व वीसेंट एच पाला शामिल हैं। इसके अलावा उत्तराखंड में दो पूर्व मुख्यमंत्रियों कांग्रेस के हरीश रावत व भाजपा के रमेश पोखरियाल निशंक के भविष्य का फैसला भी इस पहले चरण के चुनाव में तय होगा। 
कांग्रेस व भाजपा के सर्वाधिक दागी व करोड़पति प्रत्याशी
लोकसभा चुनाव के लिए पहले चरण की चुनावी जंग में उतरे 1279 प्रत्याशियों में जहां 213 आपराधिक पृष्ठभूमि के हैं तो वहीं वहीं 401 करोड़पति प्रत्याशियों पर भी विभिन्न दलों ने दांव आजमाया है। दिलचस्प बात है कि इस पहले चरण की इस चुनावी जंग में भाजपा से कहीं ज्यादा कांग्रेस ने दागियों व कुबेरों को प्रत्याशी बनाया है। मसलन कांग्रेस पार्टी 69 करोड़पति प्रत्याशियों को चुनावी मैदान में लाकर पहले पायदान पर है, जबकि भाजपा ने 65 अमीरों को चुनावी मैदान में उतारा है। इसी प्रकार कांग्रेस ने 35 ऐसे प्रत्याशियों को चुनाव मैदान में उतरा है, जिनके खिलाफ आपराधिक मामले लंबित हैं। जबकि भाजपा के ऐसे 30 प्रतयाशी चुनावी मैदान में हैं।
युवा प्रत्याशियों ने भी आजमायी किस्मत
लोकसभा चुनाव के पहले चरण में होने वाले 1279 प्रत्याशियों में सर्वाधिक 411 प्रत्याशियों की आयु 25 से 40 साल तक है, जिनमें 105 प्रत्याशी 25 से 30 साल और 306 प्रत्याशी 31 से 40 साल के बीच की उम्र के हैं।  पहले चरण की 91 सीटों पर 388 प्रत्याशियों की उम्र 41 से 50 साल, 283 नेताओं की उम्र 51 से 60 साल, 155 सियासी योद्धा 61 से 70 साल और 17  प्रत्याशी 71 से 80 साल की उम्र में चुनावी जंग का स्वाद ले रहे हैं। जबकि दो  प्रत्याशी 81 से 100 के बीच चुनावी जंग में हैं तो 10 ऐसे प्रत्याशी भी हैं जिन्हों अपनी उम्र ही नहीं बताई है।
प्रमुख राज्य जहां की सीटों पर होगा मतदान
उत्तर प्रदेश: सहारनपुर, कैराना, मुजफ्फरनगर, बिजनौर, मेरठ, बागपत, गाजियाबाद, गौतमबुद्ध नगर
बिहार: औरंगाबाद, गया, नवादा, जमुई
जम्मू-कश्मीर: बारामूला, जम्मू 
महाराष्ट्र: वर्धा, रामटेक, नागपुर, भंडारा-गोंदिया, गढ़चिरौली-चिमूर, चंद्रपुर, यवतमाल-वाशिम
पश्चिम बंगाल: कूच बिहार, अलीपुरद्वार
छत्तीसगढ़: बस्तर
ओडिशा: कालाहांडी, नबरंगपुर, बेरहामपुर, कोरापुट
असम: तेजपुर, कलियाबोर, जोरहट, डिब्रूगढ़, लखीमपुर
मणिपुर: बाहरी मणिपुर
त्रिपुरा: त्रिपुरा पश्चिम  

No comments

Powered by Blogger.