रविवार, 31 मार्च 2019

,

बस्तर के 621 युवा करवाएंगे शांतिपूर्ण मतदान


 जगदलपुर। बस्तर की कठिन भौगोलिक स्थिति और जंगल, घाटी सहित नदी, नाले क्षेत्र में तेजी से आवागमन करने नहीं देते। इसी का परिणाम है कि जंगलों के मध्य बसे या थोड़ी दूरी पर बसे गांवों में सुरक्षा समय पर नहीं पहुंच पाती और नक्सली इन गांवों में बड़े आराम से विचरण करते हुए गांव के लोगों को भयाक्रांत करते रहते हैं। इसी से ग्रामीण मतदान करने भी नहीं पहुंच पाते हैं। लेकिन अब बस्तर के 621 युवा एक टीम के रूप में काम करते हुए शांतिपूर्ण मतदान कराने के लिए तत्पर हैं। पिछले विधानसभा चुनाव में उनकी सक्रियता से चुनाव शांतिपूर्ण तरीके से हो गया। अब लोकसभा चुनाव में भी इन्हें शांतिपूर्ण मतदान के लिए लगाया जा रहा है। उल्लेखनीय है कि बस्तर जिले के 621 युवाओं की एक टीम बनाई गई है, जिसका उद्देश्य लोकतंत्र के सबसे बड़े चुनाव पर्व को शांतिपूर्ण तरीके से संपन्न करवाने में पुलिस की मदद करना है। जानकारी के अनुसार बस्तर में पुलिस व सुरक्षा बल नक्सलग्रस्त क्षेत्रों में शांतिपूर्ण मतदान और नक्सलियों पर नजर रखने के लिए अब स्थानीय युवाओं की मदद ले रही है। बस्तर जिले के अंतर्गत आने वाली तीन विधानसभाओं के लिए पुलिस ने 621 स्थानीय युवाओं की टीम बनाई है। ये पुलिस की हरसंभव मदद कर रहे हैं। चुनाव के दौरान ये युवा 24 घंटे चौकन्ने रहते हैं और हर गतिविधि पर नजर रखते हैं। कोई भी असामान्य गतिविधि दिखती है तो वे तुरंत पुलिस को सूचित करते हैं और समय रहते कार्रवाई करने के साथ चुनाव को निरापद बनाते हैं। इस बार संसदीय चुनाव के लिए 80 हजार से अधिक सशस्त्र जवानों को सुरक्षा में लगाया जा रहा है। इस संबंध में एसपी डी श्रवण ने बताया कि पुलिस द्वारा जिले भर के युवकों को अपने साथ जोड़ा है। इनमें से ज्यादातर के पास मोटरसाइकिल है। ऐसे में समय-समय पर हम निगरानी और सूचनाओं के आदान प्रदान के लिए इनकी मदद लेते हैं। इन्हें पेट्रोल का खर्च भी दिया जाता है। इनके माध्यम से अच्छे परिणाम प्राप्त हो रहे हैं।  

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90