Your Ads Here

UP औैर उत्तराखंड में जहरीली शराब ने बरपाया कहर, 82 की गई जान



लखनऊ/कुशीनगर/रुड़की ।  उत्तर प्रदेश के जिला सहारनपुर में 54 और राज्य के बिहार सीमा से सटे जिला कुशीनगर में जहरीली शराब के सेवन से 8 लोगों की मौत हो गई जबकि, उत्तराखंड प्रदेश के रुड़की में जहरीली शराब से 20 लोगों की मौत हो गई तथा 40 लोगों की हालत गंभीर हैं। इस प्रकार उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड प्रदेश में जहरीली शराब से मरने वालों की कुल संख्या 82 हो गई है।

उत्तर प्रदेश में अवैध शराब का धंधा बेहद खतरनाक होता जा रहा है। गांवों में धधक रहीं शराब की भट्ठियां काफी जानलेवा हो रही हैं। प्रदेश में कुशीनगर में 2 दिन पूर्व जहरीली शराब के सेवन से 10 लोगों की मौत के बाद जिला सहारनपुर में इसका कहर बरपा है। यहां पर अवैध शराब के सेवन से 24 लोगों ने दम तोड़ दिया है जबकि दर्जन भर से अधिक लोगों की हालत गंभीर है। इनका सहारनपुर और देहरादून में इलाज चल रहा है। जहरीली शराब सेवन से मरने वालों को 2-2 लाख तथा गंभीर रूप से बीमारों के परिजनों को 50-50 हजार रुपए की सहायता की घोषणा की गई है। जिम्मेदार पुलिस और आबकारी विभाग के लोगों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की गई है। जिला आबकारी अधिकारी और क्षेत्र के 2 आबकारी इंस्पेक्टरों को निलम्बित कर दिया गया है।


उधर, उत्तराखंड में 2 आकबारी निरीक्षकों और 7 आबकारी सिपाहियों को सस्पेंड कर दिया गया है। हालांकि बताया जाता है कि सहारनपुर के 3 थाना क्षेत्र नागल के गांव उमाही में 5, सलेमपुर में 7, ताजपुरा में 2, मायाहेड़ी में 1, थानाक्षेत्र गागलहेड़ी माली में 3, शर्बतपुर में 3 और थानाक्षेत्र देवबंद के गांव शिवपुर 1, डांको वाली में 1 और बिलासपुर में 1 की मौत हुई है। जिलाधिकारी ने बताया कि जहरीली शराब के सेवन से मरने वालों के परिजनों को 2-2 लाख तथा गंभीर रूप से घायलों के परिजनों को 50-50 हजार रुपए की सहायता मुख्यमंत्री के निर्देश पर दी जाएगी। मृतकों में लगभग सभी मजदूरी करने वाले हैं।


नागल SO समेत 10 पुलिसकर्मी निलंबित
जहरीली शराब कांड की गाज आखिरकार नागल और गागलहेड़ी थाना पुलिस पर गिर ही गई। एस.एस.पी. दिनेश कुमार पी ने नागल थाना प्रभारी निरीक्षक समेत 10 पुलिस निरीक्षकों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। एस.एस.पी. दिनेश कुमार पी ने नागल प्रभारी निरीक्षक हरीश कुमार राजपूत, उपनिरीक्षक अश्विनी कुमार, अयूब अली, आरक्षी बाबूराम, मोनू राठी, विजय तोमर, संजय त्यागी के अलावा गागलहेड़ी थाने के उपनिरीक्षक प्रमोद नैन, आरक्षी नवीन और सौरभ पर निलंबन की कार्रवाई की है।


IG सहारनपुर और गोरखपुर करेंगे जांच
डीजीपी ओपी सिंह ने सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर सहारनपुर और कुशीनगर में जहरीली शराब के सेवन से लोगों की मौत के मामले में जांच आईजी सहारनपुर और गोरखपुर को सौंपी है। इनको एक हफ्ते में जांच पूरी कर अपनी रिपोर्ट डीजीपी ऑफिस को सौंपनी होगी। बताया जा रहा है कुशीनगर में वहीं जहरीली शराब बनाई गई थी किन्तु सहारनपुर में जहरीली शराब उत्तराखंड के थाना झबरेड़ा के गांव बालुवाला में पी गई थी और लाई गई थी।


उत्तराखंड में शराब पीने से सहारनपुर में हुई मौतें: जिलाधिकारी
जलाधिकारी आलोक कुमार पांडेय ने बताया कि उत्तराखंड के हरिद्वार जनपद के झबरेड़ा थानाक्षेत्र ग्राम बालुपुर में जहरीली शराब पीने से सहारनपुर जिले के दर्जनों लोगों की मृत्यु हो गई है। उन्होंने बताया कि मृतक परिजनों एवं बीमार व्यक्तियों का बयान लेने पर उन लोगों ने स्वयं कबूला है कि वह बालुपुर से शराब पीकर आए थे। मीडिया से मुखातिब जिलाधिकारी ने बताया कि ग्राम बालुपुर, थाना झबरेड़ा, हरिद्वार (उत्तराखंड) में जनपद सहारनपुर के आधा दर्जन से अधिक गांवों के 8 व्यक्तियों की जहरीली शराब पीने से मृत्यु हो गई। आधिकारिक रूप से यह पुष्टि की गई है। बालुपुर गांव के ज्ञान सिंह नाम के व्यक्ति ने तेहरवीं को लेकर रात्रि भोज का कार्यक्रम रखा था, जिसमें जनपद सहारनपुर के कतिपय लोग भी शामिल हुए थे। इस भोज कार्यक्रम में जहरीली व कच्ची शराब का भी सेवन किया गया।

No comments

Powered by Blogger.