शहर में अवैध कब्जेधारियों की बनेगी जन्म कुंडली


कोण्डागांव। फरसगांव तहसील के अंतर्गत आने वाले शहरी क्षेत्र के साथ साथ ग्रामीण अंचलों में भी लगातार शासकीय भूमि पर अवैध बेजा कब्जा बढ़ता जा रहा है जिसमे भूमाफिया से लेकर शासकीय कर्मचारी तक शामिल हैं,यही नही कुछ कर्मचारियो ने तो बाकायदा आबंटित शासकीय भवन से लगे जमीनों पर कब्जा कर अपना व्यवसाय तक सुरु कर चुके है जिसपर प्रशासन की नजर पडऩे के बावजूद आज तक कोई कार्यवाही नही हो सकी वही शासकीय कर्मचारी अपने शासकीय दायित्वों को छोड़ अन्य व्यवसाय में लगे है, जिसका नजारा उद्यानिकी विभाग से लगे शासकीय भूमि पर नजर आता है।  वही भूमाफियाओं का क्षेत्र में आतंक व दबदबा बढ़ता ही जा रहा है व कार्यवाही के अभाव में उनके हौसले बढ़ते ही जा रहे हैं।जिसका नतीजा है कि  विगत कुछ महीनों में ही नगर पंचायत क्षेत्र के चारो तरफ अवैध कब्जाधारीयो की बाढ़ सी आ गई है वही  अपना पैर जमा रहे है और शासकीय जमीनों पर अपना कब्जा करते नजर आ रहे है जिस पर स्थानीय।

विभाग का कर्मचारी ही बता रहा कहां है जमीन खाली भूमाफियाओं को 

जानकारी अनुसार कुछ रुपयों की लालच में विभाग का कर्मचारी ही खाली पड़ी शासकीय जमीन को चिन्हांकित कर भूमाफियाओं  को बता रहा है जिसके बाद भूमाफियाओं द्वारा कब्जा किया जा रहा है अधिकारी कर्मचारियों के उदासीनता के चलते चलते विभाग के विभीषणों व भूमाफियाओं  के हौशले बुलन्द होते आ रहे है। हालांकि कुछ समय पूर्व राजस्व विभाग ने कुछ पर कार्यवाही भी की थी लेकिन रसूखदार व भु-माफियाओ तक नही पहुंच पाई थीं, नतीजा यह रहा कि रशुखदारो व भूमाफियाओं द्वारा वर्तमान में पुराने कब्जे बरकऱार रख प्रशासन के नाक के नीचे शासकीय भूमि पर कब्जा मार  भु-माफियाओ द्वारा  मकान -दुकान बना बकायदा किराये पर दिया जा रहा है , कुछ माह से राजस्व विभाग के अधिकारी कर्मचारियों के विधान सभा चुनाव की व्यस्तता के चलते भी  भु-माफियाओ और ज्यादा सक्रिय हो चले हैं नतीजन आबंटित भुमियो पर भी गढे खोद कर तार घेराव करने  से भी नही डर रहे है। अगर समय रहते प्रशासन सतर्क नही हुआ तो  फरसगाँव नगरीय क्षेत्र में शासकीय कार्यो व निर्माण के  लिए भुमि  ही नही बच पायेगा।

शासकीय भूमि में कब्जे की शिकायत पर लगातार अधीनस्थ कर्मचारियों को तत्काल कब्जा पर रोक व कार्यवाही करने कहा गया है,वही विधान सभा चुनाव की व्यस्तता के चलते कुछ लोगो ने बेजा कब्जा किया है,किसी को भी नही बक्शा जाएगा,चाहे कोई भी हो।एके पानीग्राही, तहसीलदार  तहसील फरशगॉव