विलंब से ईवीएम पहुंचने के मामले में एसडीएम का तबादला

सागर। मध्यप्रदेश के सागर जिले में मतदान के 48 घंटे बाद खुरई विधानसभा से रिजर्व ईवीएम स्ट्रांग रूम में जमा करने के मामले में नायब तहसीलदार के निलंबन के बाद अनुविभागीय अधिकारी राजस्व (एसडीएम) विकास सिंह का तबादला कर दिया गया है। सूत्रों के मुताबिक प्रदेश में 28 नवंबर को मतदान के बाद खुरई विधानसभा मे रिजर्व मशीनों को बांदरी थाना में रखवा दिया गया था। ये ईवीएम 48 घंटे बाद 30 नवंबर को दोपहर बाद चार वाहनों से सागर स्थित इंजीनियरिंग कालेज पहुँची तो कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने हंगामा खड़ा कर दिया। इसके बाद कलेक्टर आलोक सिंह ने मशीनों को कोषालय में जमा कराया और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के सामने कुछ मशीनों की जांच की। इनमें कोई डाटा नहीं पाया गया। जिला निर्वाचन अधिकारी सागर द्वारा मुख्य निर्वाचन अधिकारी भोपाल को प्रतिवेदन भी भेजा गया, जिसके आधार पर नायब तहसीलदार राजेश मेहरा को संभागायुकत सागर मनोहर दुबे ने निलंबित कर दिया गया था। इसी मामले में कल खुरई अनुविभागीय अधिकारी विकास सिंह का तबादला कर दिया गया है। अपर कलेक्टर तन्वी हुडडा को खुरई एसडीएम का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है। मामले में खुरई के कांग्रेस उम्मीदवार अरुणोदय चौबे ने मशीनों की विषय विशेषज्ञों के माध्यम से उच्च स्तरीय जांच की मांग की है।