मनोज तिवारी को नहीं रोकता तो CM केजरीवाल पर कर देते हमला: अमानतुल्लाह



नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन समारोह में धक्का-मुक्की आरोपों के बाद 'आप' विधायक अमानतुल्लाह खान ने सफाई पेश की है। उन्होंने कहा कि जब भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सांसद मनोज तिवारी स्टेज पर चढऩे की कोशिश कर रहे थे, तो मैंने उन्हें रोकने की कोशिश की ना कि धक्का दिया। वह जिस तरह से वहां पर बर्ताव कर रहे थे, अगर स्टेज पर आते तो मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री के साथ बुरा बर्ताव करते। उन्होंने कहा कि अगर मैं मनोज तिवारी को नहीं रोकता तो वह केजरीवाल पर हमला कर सकते थे।



अमानतुल्लाह ने आगे कहा कि सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन समारोह में मनोज तिवारी बिना किसी बुलावे के आए थे। उन्होंने कहा कि वह समारोह में काला झंडा दिखाने के साथ हमारे कार्यकर्ताओं पर हमले कर रहे थे।




क्या था मामला
आपको बतां दे कि दिल्ली के बहुप्रतीक्षित सिग्नेचर ब्रिज का रविवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उद्धाटन किया। इस दौरान दिल्ली बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी और आप के समर्थकों के बीच हाथापाई हो गई। मौके पर पुलिस भी मौजूद थी। एक वीडियो में मनोज तिवारी आप कार्यकर्ता को मारने की कोशिश करते हुए नजर आ रहे हैं, जबकि पुलिस उन्हें रोकने की कोशिश कर रही है। बीजेपी सांसद पुलिस से हाथ छुड़ाने की कोशिश कर रहे हैं।



इस घटना के बाद मनोज तिवारी ने कहा था कि सालों से रुके हुए निर्माणकार्य को मैंने अपने चुनाव क्षेत्र मं शुरू करवाया था और अब अरविंद केजरीवाल ने इसका उद्घाटन समारोह आयोजित किया। उन्होंने कहा, मैं उद्घाटन समारोह में आमंत्रित था। मैं यहां से सांसद हूं, इसमें क्या परेशानी है? मैं क्रिमिनल हूं? पुलिस मुझे क्यों घेर रही है? मैं यहां अरविंद केजरीवाल का स्वागत करने के लिए आया हूं। उन्होंने कहा, आप समर्थकों और पुलिस ने मेरे साथ दुव्र्यवहार किया है।