काजू किन लोगों को नहीं खाने चाहिए और किसके लिए है फायदेमंद?




काजू, ड्राई फूट्स में सबसे टेस्टी माना जाता है लेकिन यह सेहत के लिए भी उतना ही फायदेमंद है। प्रोटीन, खनिज, आयरन, फाइबर, फोलेट, मेग्नीशियम, फॉस्फोरस, सेलेनियम, एंटीऑक्सीडेंट, मिनरल और विटामिन से भरपूर काजू सेहत संबंधी कई तरह की परेशानियां दूर करने में मददगार है। इसका इस्तेमाल सब्जी, मिठाई, सूप आदि में किया जा सकता है।

1. हाई कैलोरी से भरपूर काजू
काजू के एक आउंस में 9 ग्राम कार्बोहाइड्रेट, 4.5 ग्राम प्रोटीन और 13‌ ग्राम गुड फैट होता हैं। इसके अलावा इसके एंटीबैक्टीरियल गुण इंफैक्शन से बचाव रखने में मददगार है। हाई कैलोरी की वजह से इसे खाने के बाद जल्दी भूख नहीं लगती। सर्दियों में 5 से 7 काजू खाने बेहतर माने जाते हैं।

2. फ्राई की बजाए खाएं सिंपल काजू
नमकीन या फ्राई काजू खाने की बजाए साधारण काजू का सेवन करें। इससे सूप, सब्जी की ग्रेवी, मेपल सिरप में डालकर खाया जा सकता है। आप कैशयू बटर का इस्तेमाल भी कर सकती हैं जिसे फल, सब्जियों के सलाद के साथ के साथ भी खा सकते हैं।

3. काजू खाने के फायदे
- पाचन शक्ति बढ़ाए
काजू पाचन शक्ति बढ़ाने में मददगार है। इसे खाने से आंत में भरी गैस दूर हो जाती है और भूख लगने लगती है। पाचन क्रिया दुरुसत रखना चाहते हैं तो रोजाना काजू का सेवन करें।

- कैंसर से बचाव
काजू में फ्लैवनॉल्स और कॉपर कैंसर सैल को बढ़ने से रोकता है। इसका रोजाना सेवन करने से कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी होने का खतरा कम हो जाता है। पेट के कैंसर में यह बहुत फायदेमंद है।

- दिल के लिए अच्छा
काजू में फैट बहुत कम है जो दिल के लिए बहुत अच्छा है। इसका सेवन करने से कोलेस्ट्रॉल की परेशानी नहीं होती है और स्वास्थ्य भी अच्छा रहता है।


- लो ब्लड प्रेशर में बढ़िया
जिन लोगों का ब्लड प्रैशर हर समय लो हाई रहता है, उन्हें ब्रेन हेमरेज होने का खतरा बहुत ज्यादा रहता है। रक्तचाप को संतुलित रखना चाहते हैं तो रोजाना 4-5 काजू का सेवन करें।

- नसें और हड्डियां मजबूत
मेग्नीशियम से भरपूर काजू कैल्शियम को नर्व सेल्स तक पहुंचाने का काम करता है। इससे नसों पर बहुत कम दवाब पड़ता है। जब शरीर में मेंग्नीशियम की कमी होती है तो कैल्शियम नसों तक पहुंचने लगता है। जिस कारण नसों में सिकुड़न होने के साथ ब्लड प्रेशर और माइग्रेन की समस्या होने लगती है।


- खून की कमी पूरी
काजू में आयरन की मात्रा ज्यादा होती है, जो शरीर में एनीमिया यानि खून की कमी को पूरा करता है।

- दांतों बनाएं मजबूत
इसके अलावा काजू में फॉस्फोरस की मात्रा भी पर्याप्त होती है, जो दांतों के मजबूत रखता है। इसलिए बड़े और बूढ़ों को रोज काजू का सेवन करना चाहिए।

- डायबिटीज में फायदेमंद
रोजाना थोड़े से काजू का सेवन करने से डायबिटीज का खतरा भी बहुत कम हो जाता है। यह टाइप 2 डायबिटीज के स्तर को कंट्रोल करने में मददगार है।

4. प्रेग्नेंसी में काजू खाने के फायदे
प्रेग्नेंसी में 1 ओंस से ज्यादा काजू का सेवन न करें। इससे नुकसान हो सकता है लेकिन सीमित मात्रा में काजू खाने से मां और बच्चे दोनों को बहुत फायदा मिलता है। इससे बच्चे का शारीरिक विकास बहुत अच्छे तरीके से होता है, इसके अलावा हड्डियां मजबूत, मस्तिष्क का अच्छा विकास होने के साथ-साथ मां के दांतों के लिए भी बेस्ट है। इससे किसी तरह की कैविटी नहीं होती।

5. किन लोगों को नहीं खाना चाहिए काजू
- माइग्रेन
सिर दर्द या माइग्रेन के रोगी को काजू का सेवन करने से परहेज करना चाहिए। इसमें मौजूद अमीनो एसिड सिर दर्द पैदा कर सकता है।

- गॉलब्लैडर स्‍टोन
जिन लोगों के पित्ते में पथरी है, उन्हें काजू का सेवन नहीं करना चाहिए। इससे मौजूद ऑक्सलेटेस तत्‍व पथरी की परेशानी बढ़ा सकते हैं।

- मोटापा
जो लोग मोटापे के शिकार हैं,उन्हें काजू खाने से परहेज करना चाहिए। 30 ग्राम काजू में 163 कैलारी और 13.1 फैट होता है। इसका ज्यादा सेवन वजन बढ़ाने का काम करता है।

- पेट की गड़बड़ी
पेट संबंधित कोई परेशानी है तो उन्हें काजू का सेवन नहीं करना चाहिए। इससे सेहत ज्यादा खराब हो सकती है।

- हाई ब्लड प्रेशर
सोडियम से भरपूर काजू का सेवन हाई ब्लड प्रेशर में और भी ज्यादा गंभीर हो सकता है। ऐसे लोगों को काजू नहीं खाना चाहिए।