Your Ads Here

पिछले 9 महीने में 40% बढ़ी घरों की बिक्रीः रिपोर्ट

 sales increased 40 in last 9 months report
 
कोलकाता । जिंदल लीजफिन की रिपोर्ट इस बात की ओर इशारा करती है कि पिछले कुछ महीनों में देश के बड़े शहरों में घरों की बिक्री में काफी इजाफा हुआ है। लिक्विडिटी की समस्या और खरीदारों की नकारात्मक धारणा के बावजूद कोलकाता, हैदराबाद जैसे शहरों में घरों की बिक्री में सबसे ज्यादा तेजी आई है। डेटा के अनुसार इस साल जनवरी से सितंबर की 9 महीने की अवधि में आवासीय सेगमेंट में 40 फीसदी का उछाल देखा गया है। पिछले कुछ सालों में हुए इकनॉमिक रिफॉर्म्स रियल एस्टेट के क्षेत्र में काफी बदलाव लेकर आए हैं। नोटबंदी, रेरा, जीएसटी, इन्सॉलवंसी ऐंड बैंकरप्सी कोड और बेनामी प्रॉपर्टीज ऐक्ट ने रियल एस्टेट को काफी प्रभावित किया है।

जिंदल लीजफइन के कंट्री हेड रमेश नायर ने बताया, 'रेरा और जीएसटी से शुरुआत में डिवेलपर्स के लिए मुश्किल खड़ी हुई, लेकिन अब ज्यादातर समस्याएं का समाधन कर दिया गया है और अब इंडस्ट्री व्यवस्थित हो चुकी है। जनवरी से सितंबर के डेटा को देखा जाए तो घर खरीदार घर लेने के फैसले में अब देरी नहीं कर रहे हैं।' नायर आगे कहते हैं, 'रिकवरी के संकेतों के बीच निश्चित तौर पर बाजार का आत्मविश्वास बढ़ा है। स्थिर कीमतें इंडस्ट्री के लिए अच्छी हैं, इससे बायर्स का मार्कट में कॉन्फिडेंस वापस आता दिख रहा है। इसने डिवेलपर्स को नए प्रॉजेक्ट लॉन्च करने के लिए प्रोत्साहित किया है।'

इस रिपोर्ट के अनुसार हैदराबाद और कोलकाता के रियल एस्टेट मार्केट में सबसे ज्यादा बूम देखा गया है। हैदराबाद के मार्केट की ग्रोथ रेट इस अवधि में 277 फीसदी और कोलकाता की 230 फीसदी रही। चेन्नै को ग्रोथ रेट 77%, एनसीआर 53%, पुणे 19% और बेंगलुरु 12% रही। नए प्रॉजेक्ट्स के लॉन्च की अगर बात करें कोलकाता में 325%, चेन्नै 289%, एनसीआर 152% की ग्रोथ हुई है। हैदराबाद 101% और बेंगलुरु 82 फीसदी ने नए लॉन्च में बेहतर ग्रोथ की है। 

No comments

Powered by Blogger.