छत्तीसगढ़ में दूसरे चरण में दोपहर तीन बजे तक लगभग 50 प्रतिशत मतदान

रायपुर। भारी सुरक्षा बन्दोबस्त के बीच छत्तीसगढ़ में दूसरे एवं आखिरी चरण की 72 विधानसभा सीटों पर दोपहर तीन तक लगभग 50 प्रतिशत मतदान हुआ है।तमाम मतदान केन्द्रों पर अभी भी मतदाताओं की भीड़ लगी है। राज्य के मुख्य निर्वाचन कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार दोपहर तीन बजे तक औसतन 50 प्रतिशत मतदान हो चुका है।बालोद में 52,जांजगीर में 61,सरगुजा में 60,धमतरी में 48 एवं महासमुन्द्र में 43 प्रतिशत मतदान होने की सूचना है।सुरक्षा कारणों से बिन्द्रानवागढ़ विधानसभा क्षेत्र के घुर नक्सल प्रभावित दो मतदान केन्द्रों पर मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ था,यहां मतदान तीन बजे समाप्त हो गया।
इस बीच बिलासपुर जिले की मरवाही विधानसभा के सेमरा मतदान एवं धनौली मतदान केन्द्र के पीठासीन अधिकारियों सुरेन्द्र मंडावी एवं कमल तिवारी को निर्वाचऩ अभिकर्ताओं द्वारा एक पार्टी विशेष के लिए मतदान करने के लिए प्रोत्साहित करने की शिकायतो की जांच के बाद ड्यूटी से हटा दिया गया है।इनके खिलाफ जांच के भी निर्देश दिए गए है। राज्य निर्वाचन अधिकारी सुब्रत साहू ने स्वीकार किया कि राज्य में लगभग 160 स्थानों से ईवीएम खराब होने की शिकायते मिली थी जिन्हे आधे घंटे के भीतर बदल दिया गया।वहीं मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस एवं अन्य विरोधी दलों ने राज्य में 500 से भी अधिक ईवीएम खराब होने का दावा का है।विरोधी दलों ने इससे मतदान के प्रभावित होने तथा मतदाताओं के मतदान केन्द्र से वापस लौट जाने का भी दावा किया है।कांग्रेस ने ईवीएम खराब होने की शिकायत चुनाव आयोग से करते हुए इसके पीछे साजिश का आरोप लगाया है।
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल ने आरोप लगाया है कि अधिकांश मशीने उसी मतदान केन्द्र पर पर खराब हो रही है,जहां कांग्रेस मजबूत है।वहीं मुख्यमंत्री डा.रमन सिंह ने कांग्रेस के आरोपो को निराधार करार देते हुए कहा कि कांग्रेस के लोग चुनाव में संभावित हार को देखते हुए ईवीएम पर ठीकरा फोडऩे की अभी से तैयारी कर रहे है।