गुरुवार, 3 सितंबर 2020

दुनिया की सर्वश्रेष्ठ फिनिशर बनना चाहती हूं: नवजोत



बेंगलुरु। भारतीय महिला हॉकी टीम की स्ट्राइकर नवजोत कौर का कहना है कि वह एक दिन दुनिया की सर्वश्रेष्ठ फिनिशर बनना चाहती हैं। हरियाणा से आने वाली महिला स्ट्राइकर नवजोत पिछले कुछ वर्षों में भारतीय टीम की प्रमुख खिलाड़ी रही हैं। उन्होंने कहा कि वह भारतीय महिला हॉकी टीम की फिनिशर बनने का आनंद लेती हैं। नवजोत ने अबतक 172 अंतरराष्ट्रीय मैच खेले हैं। 25 वर्षीय स्ट्राइकर ने कहा, "किसी भी हॉकी टीम के लिए फिनिशर की भूमिका अहम होती है। मुझे खुशी है कि मुझे मेरी साथियों के बनाये गये मौकों को भुनाने का अवसर दिया गया है। इस काम में हालांकि काफी दबाव होता है लेकिन मैं इन चुनौतियों का आनंद लेती हूं।
नवजोत ने कहा, "मैं फिनिशिंग की तकनीक पर मेहनत करना चाहती हूं। उम्मीद है कि मैं एक दिन दुनिया की सर्वश्रेष्ठ फिनिशर बनूंगी। अपनी टीम के लिए गोल करने का मौका भूनाने शानदार अवसर है। उन्होंने कहा, 2014 और 2018 एशियाई खेलों में कांस्य पदक और रजत पदक विजेता टीम का हिस्सा रहना मेरे करियर का सबसे अच्छा पल रहा है। हालांकि 2019 हमारे लिए सबसे महत्वपूर्ण साल रहा है। एफआईएच महिला सीरीज फाइनल में विजेता टीम का हिस्सा रहना सुखद अनुभव रहा। इसके बाद हमने ओलंपिक क्वालीफायर में अमेरिका को हराकर ओलंपिक में जगह बनायी। पिछला साल हमारी टीम के लिए काफी शानदार रहा और मुझे उम्मीद है कि आने वाले वर्षों में भी हम बड़े टूर्नामेंट जीतेंगे।
नवजोत ने कहा, मैं आज जिस जगह हूं, वहां अपने माता-पिता के समर्थन के बिना नहीं पहुंच सकती थी, विशेषकर मेरे पिता का इसमें अहम योगदान है जिन्होंने स्कूल के समय से ही मुझे हॉकी खेलने के लिए प्रेरित किया। उनका हमेशा से सपना था कि उनका एक बच्चा खिलाड़ी बने और मुझे खुशी है कि मैं उनका सपना पूरा कर सकी। मुझे उम्मीद है कि मैं भविष्य में भी अपने खेल में सुधार जारी रखूंगी तथा खेल में अपनी उपलब्धियों से अपने माता-पिता को गौरवान्वित करूंगी।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90