गुरुवार, 3 सितंबर 2020

देश में अब तक कोरोना के साढ़े चार करोड़ से अधिक टेस्ट हुए



नई दिल्ली। देश में अब तक कोरोना के साढ़े चार करोड़ से अधिक टेस्ट किए जा चुके हैं और भारत इस मामले में ऐसा करने वाला दूसरा देश बन गया है। इसके अलावा पिछले 24 घंटे में 11 लाख 72 हजार टेस्ट किए गए हैं, जो अपने आप में एक रिकार्ड है। स्वास्थ्य मंत्रालय के प्रवक्ता और सचिव राजेश भूषण ने गुरुवार को यहां एक संवाददाता सम्मेलन में बताया कि भारत के लिए राहत की बात यह है कि कोरोना को मात देने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 29 लाख 70 हजार के करीब हो चुकी है और 02 सितंबर को सबसे अधिक मरीज कोरोना से ठीक हुए हैं जिनकी संख्या 68,584 है, जो एक रिकार्ड है।
उन्होंने बताया कि देश में अप्रैल माह में कोरोना जांच का आंकडा मात्र दस हजार प्रतिदिन था जो जून में बढ़कर 50 लाख हो गया था और अब तक देश में साढ़े चार करोड़ लोगों की कोरोना जांच हो चुकी है। कल देश में 11,72,180 टेस्ट किए गए थे। देश में कोरेाना मरीजों के ठीक होने की दर में भी काफी इजाफा हो रहा है और मई माह में जहां यह आंकड़ा 50 हजार था , अगस्त के तीसरे हफ्ते में बढ़कर 20 लाख हो गया था और आज तक कोरोना से 29 लाख 70 हजार से अधिक मरीज ठीक हो चुके हैं। देश में इस समय कोरोना के सक्रिय मरीजों की संख्या 8,15,538 है। भारत में प्रति दस लाख की आबादी कोरोना संक्रमण के 2,792 मामले हैं जबकि अमेरिका में यह आंकड़ा 18,900 और ब्राजील में 3,359 प्रति दस लाख आबादी है। देश में जहां प्रति दस लाख बादी 49 लोगों की कोरोना से मौत हो रही है वहीं विश्व का औसत आंकड़ा 111 प्रति दस लाख आबादी है और अन्य देशों में यह 500 से 600 प्रति दस लाख हैं।
उन्होंने बताया कि देश मे पांच राज्य ऐसे हैं जहां कोरोना के 62 प्रतिशत सक्रिय मामले देखे जा रहे हैं और इनमें से 25 प्रतिशत मामले अकेले महाराष्ट्र में हैं। इसके अलावा 12.5 प्रतिशत आंध्रप्रदेश, 12 प्रतिशत कर्नाटक, 7 प्रतिशत और 6.5 प्रतिशत तमिलनाडु में देखे जा रहे हैं तथा 37.5 प्रतिशत मामले अन्य राज्यों के हैं। उन्होंने बताया कि देश में कल साढ़े 11 लाख से अधिक कोरोना टेस्ट किए गए थे और दैनिक आधार पर कोरोना पाजिटिव पाए जाने वाले मरीजों का आंकडा 7.2 प्रतिशत है जबकि समग्र तौर पर यह आंकडा 8.4 प्रतिशत और साप्ताहिक तौर पर यह दर आठ प्रतिशत देखी जा रही है।
भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद के महानिदेशक डा. बलराम भार्गव ने बताया कि देश में दूसरा सीरोलॉजिकल सर्वे शुरू हो चुका है और यह 50 जिलों में पूरा कर लिया गया है तथा 70 जिलों में इस पर काम पूरा हो चुका है । इसके नतीजे अगले दो हफ्तों में सामने आ जाएंगे। राजधानी दिल्ली में पिछले कुछ समय में कोरोना मामलों और मौत की संख्या में बढ़ोत्तरी से जुड़े एक सवाल पर श्री भूषण ने बताया कि इस विषय पर विचार करने के लिए केन्द्रीय गृह मंत्रालय के दिशानिर्देश पर स्वास्थ्य मंत्रालय दिल्ली सरकार के साथ विचार -विमर्श कर रहा है कि मामलों में बढ़ोत्तरी को देखते हुए किन-किन गतिविधियों को नियंत्रित किया जा सकता है।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90