रविवार, 6 सितंबर 2020

थकना नहीं है, रूकना नहीं है, कोरोना से लडऩा है और जीतना है : भूपेश बघेल


  • कोरोना मरीजों के उपचार और देखभाल की हो बेहतर व्यवस्था
  • कोरोना संक्रमण की स्थिति के अनुसार कंटेनमेंट जोन का निर्णय लेंगे कलेक्टर

राजनांदगांव। मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने आज यहां अपने निवास कार्यालय से वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से केबिनेट मंत्री, जिला के कलेक्टरों, पुलिस अधीक्षकों एवं चिकित्सा अधिकारियों से राज्य में कोरोना संक्रमण की स्थिति और इसकी रोकथाम के उपायों के संबंध में चर्चा की और उनसे सुझाव प्राप्त किए। इस अवसर पर विडियो कान्फ्रेसिंग में कलेक्टर श्री टोपेश्वर वर्मा, पुलिस अधीक्षक श्री डी श्रवण उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने कहा कि प्रदेश में कोरोना पीडि़तों की मदद पहुंचाने एवं संक्रमण की रोकथाम के लिए सभी के सहयोग से उल्लेखनीय कार्य हुए है। कोविड-19 को हराने के लिए जागरूकता एवं आत्मविश्वास बढ़ाने की जरूरत है। सभी अपने मन से दवाब निकाल दे एवं टीम वर्क में कार्य करें। थकना नहीं है, रूकना नहीं है, कोरोना से लडऩा है और जीतना है। उन्होंने कहा कि सभी को ज्यादा मेहनत करने की जरूरत है। उन्होंने कोरोना मरीजों के उचार एवं देखभाल की बेहतर व्यवस्था करने के निर्देश दिए।

 मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना एवं गंभीर रोग से पीडि़त मरीजों की रक्षा सर्वोपरि होना चाहिए। उन्होंने कहा कि लक्षण विहीन मरीजों को होम आईसोलेशन में रखना है और मरीजों के मनोबल को बढ़ाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि कोरोना के संक्रमण से बचने के उपायों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित कराने के साथ ही कलेक्टरों को स्थानीय परिस्थितियों के अनुसार कंटेन्मेंट जोन का निर्धारण करने के निर्देश दिए।

इस अवसर पर अपर कलेक्टर सीएल मारकंडे, जिला पंचायत सीईओ तनुजा सलाम, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक  सुरेशा चौबे, नगर निगम आयुक्त चन्द्रकांत कौशिक, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. मिथलेश चौधरी, एसडीएम श्री मुकेश रावटे, प्रभारी डीन डॉ. राहुल रंजन, डीपीएन  गिरिश कुर्रे, कोविड-19 के नोडल अधिकारी डॉ. अजय कोसम, डॉ. अतुल देशमुख, ई-जिला प्रबंधक  सौरभ मिश्रा एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90