शनिवार, 29 अगस्त 2020

छत्तीसगढ़ में खेल गतिविधियों को बढ़ावा देने रोडमेप तैयार : खेल मंत्री उमेश पटेल


  • खेल मंत्री ने खेल दिवस पर राज्य के खिलाड़ियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से की बातचीत
  • प्रशिक्षकों एवं खिलाड़ियों को खेल दिवस की दी बधाई और शुभकामनाएं
  • खेलों को बढ़ावा देने राज्य सरकार ने खेल प्राधिकरण के गठन सहित स्टेडियम, हॉकी एस्ट्रोटर्फ एवं अन्य अधोसंरचना का विकास


रायपुर । खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्री उमेश पटेल ने आज खेल दिवस पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से राज्य के ख्याति प्राप्त खिलाड़ियों एवं प्रशिक्षकों से बातचीत की। श्री पटेल ने राज्य के सभी खिलाड़ियों और प्रशिक्षकों को खेल दिवस की बधाई और शुभकामनाएं दी।
मंत्री श्री पटेल ने कहा कि 29 अगस्त को हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद के जन्म दिवस को राष्ट्रीय खेल दिवस के रूप में मनाया जाता है। वर्तमान में कोरोना संक्रमण से उत्पन्न विषम परिस्थितियोें के कारण पूरे देश में खेल गतिविधियों के संचालन में अवरोध उत्पन्न हुआ है। देश के विभिन्न राज्यों में उत्कृष्ट खिलाड़ियों को दिए जाने वाले पुरस्कारों को भी स्थगित किया गया है। छत्तीसगढ़ में भी कोरोना संक्रमण के कारण सुरक्षा की दृष्टि से खेल दिवस पर आयोजित होने वाले पुरस्कार अलंकरण समारोह को स्थगित रखा गया है।
श्री पटेल ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में राज्य सरकार द्वारा प्रदेश में खेलों को बढ़ावा देने और खिलाड़ियों की प्रतिभा को निखारने के लिए अनेक कदम उठाएं है। राज्य में खेल प्राधिकरण का गठन भी किया गया है। इसके अलावा ‘वन स्टेट-वन गेम‘ के तहत केन्द्र सरकार द्वारा ऑलंम्पिक-2024 में तीरंदाजी में देश का प्रतिनिधित्व करने के लिए प्रतिभाशाली तीरंदाज खिलाड़ियों को प्रशिक्षित कर उन्हें तैयार करने की जिम्मेदारी छत्तीसगढ़ राज्य को सौंपी गई है। इसके लिए प्रदेश सरकार द्वारा नैसर्गिक प्रतिभा वाले युवाओं का चयन कर उन्हें प्रशिक्षण देने की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है। जशपुर में हॉकी के खेल को बढ़ावा देने के लिए एस्ट्रोटर्फ का काम चालू किया गया है। पाटन-मर्रा में स्टेेडियम का निर्माण किया जा रहा है। दुर्ग में जूडो एकेडमी की स्थापना की गई है। राज्य सरकार नारायणपुर में मलखम्भ को प्रोत्साहित करने के लिए वहां सुविधाएं उपलब्ध करा रही है। ग्रामीण क्षेत्रों में खेल गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए राजीव युवा मितान क्लबों का गठन किया जा रहा है। गतवर्ष युवा महोत्सव के तहत ग्रामीण खेल प्रतिभाओं को एक नया मंच प्रदान किया गया। प्रदेश के खिलाड़ी राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर छत्तीसगढ़ का नाम रोशन कर सके इस दिशा में विशेष पहल की जा रही है। कोविड-19 के कारण खेल गतिविधियां बंद हो गई है, इन्हें पुनः चालू करने के लिए खेल विभाग द्वारा रोडमेप तैयार कर लिया गया है।
श्री पटेल ने कहा कि राज्य के नागरिकों, कोरोना वारियर्स, जनप्रतिनिधियों और शासकीय सेवकों के सामूहिक प्रयासों से कोरोना को हराने में सफलता मिलेगी। सभी के प्रयासों से जल्द ही कोरोना वायरस के प्रभाव से छुटकारा मिलेगा। उन्होंने कहा कि खिलाड़ियों को जो भी मदद की जरूरत होगी, उसे पूरा करने का प्रयास किया जाएगा। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में खेल विभाग के सचिव श्री सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी, संचालक श्रीमती श्वेता श्रीवास्तव सिन्हा सहित अनेक खिलाड़ी शामिल हुए।
मंत्री श्री पटेल को दुर्ग जिले की हॉकी खिलाड़ी पद्मश्री श्रीमती सबा अंजुम और राजनांदगांव की सुश्री रेणुका यादव, रायपुर के बैडमिंटन खिलाड़ी श्री ईशान भटनागर, बिलासपुर के तैराक श्री शिवाक्ष साहू और तीरंदाज श्री ईतवारी राज, बस्तर की श्री नबी और नारायणपुर के मलखंभ खिलाड़ी श्री मनोज ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से वर्तमान में संचालित खेल गतिविधियों, प्रशिक्षण आदि के बारे में विस्तार से जानकारी दी। मंत्री श्री पटेल ने अन्य खिलाड़ियों से भी दूरभाष पर चर्चा की। श्री पटेल ने सभी खिलाड़ियों और बैडमिंटन के स्टेट प्लेयर श्री ईशान भटनागर को नेशनल बैडमिंटन के लिए चयन होने पर बधाई और शुभकामनाएं दी।
खेल संचालनालय में खेल दिवस पर मेजर ध्यानचंद के योगदान को किया गया याद

खेल दिवस पर आज 29 अगस्त को सरदार वल्लभ भाई पटेल अंतर्राष्ट्रीय हाकी स्टेडियम रायपुर स्थित खेल संचालनालय में खेल संचालक श्रीमती श्वेता श्रीवास्तव सिन्हा ने मेजर ध्यानचंद के चित्र पर माल्यार्पण किया। खेल संचालक ने सभी खिलाड़ियों, विभागीय अधिकारी-कर्मचारियों खेल दिवस की बधाई और शुभकामनाएं दी। भारतीय हॉकी को शिखर पर पहुंचाने वाले मेजर ध्यानचंद के योगदान को याद किया गया। उन्होंने सभी को कोरोना महामारी से सतर्कता बरतने की भी अपील की।


0 comments:

टिप्पणी पोस्ट करें

Top Ad 728x90